Guest Corner RSS Feed
खबर वही जो मैनेजमेंट मन भाए Misc

Pratibha Katiyar

खबरों की दुनिया में रहते-रहते, खबरों को ओढ़ते-बिछाते अचानक एक दिन अहसास हुआ कि खबरें हमसे कबकी छिटककर दूर जा गिरी हैं. हम जिन्हें चिपकाये घूम रहे हैं वो तो मार्केट की डिमांड है

नंगाझोरी...!!! (व्‍यंग्‍य ) Misc

Vishnu Sharma

सोच कर देखिए अगर राजा और कलमाड़ी तिहाड़ के बजाय किसी यूपी, राजस्थान या पंजाब की जेल में रखे जाते। कोर्ट परिसर में हवालात का सीन। दो ही खिड़कियां, एक पर गुटखे के खाली पाउच को मोड़ कर दांत कुरेदता सड़कछाप डॉन

आतंकवाद पर दुनिया से आखिर कैसा समर्थन चाहता है पाकिस्तान? Misc

Tanveer Zafri

पाकिस्तान इन दिनों आतंकवाद को लेकर भीषण संकट के दौर से गुज़र रहा है।

नए सूचना कानूनों पर बहस की जरूरत Misc

Piyush Pandey

सूचना तकनीक संशोधन अधिनियम 2009 के प्रस्तावित मसौदे को कानून बने एक महीने से अधिक का वक्त हो गया। पिछले 11 अप्रैल सरकारी गजट में इस संबध में तमाम कानूनों को प्रकाशित कर दिया गया था, लेकिन इतने महत्वपूर्ण विषय पर जितनी बहस होनी चाहिए थी वह न पहले हुई और न बाद में।

क्यों मजबूर है भारत Misc

Punya Prasun Bajpai

दुनिया के नक्शे पर पाकिस्तान की हैसियत चाहे सुई भर हो लेकिन पाकिस्तान का मतलब दुनिया के दो सबसे ताकतवर देशों अमेरिका और चीन के लिये अन्तर्राष्ट्रीय कूटनीति की जमीन का होना है। वहीं समूचे अरब वर्ल्‍ड के लिये पाकिस्तान का मतलब एक ऐसा शक्तिशाली इस्लामिक राष्ट्र का होना है जो परमाणु हथियारों से लैस है।

कृषि प्रधान देश का बदहाल कृषक समाज Misc

Nirmal Rani

भारतवर्ष को दुनिया में कृषि प्रधान देश के रूप में जाना जाता है। हमारे देश के किसानों को अन्नदाता कहकर पुकारा जाता है। परंतु देश में चल रही विकास नामी बयार की ज़द में आकर कभी-कभी यही कृषक समाज अथवा किसान देश की विभिन्न सरकारों द्वारा कभी अपनी खेती की ज़मीनों से बेदखल होता हुआ दिखाई देता है तो कभी उसे इसका विरोध करने पर लाठियां, गोलियां तक खानी पड़ती हैं।

बंगाल का फैंसला Misc

Joydeep Dasgupta

बंगाल में चुनाव खत्म हो चुके हैं अब इंतजार तो बस चुनाव के परिणामो का ही रह गया हैं...इसी सोच के साथ आज जब घर से बाहर निकला और ऑफिस के लिए टैक्सी पकड़ी, उस पर सवार हुआ तो टैक्सी ड्राईवार से ही पुछा लिया- क्‍या लगता हैं भाई क्या होगा? क्योकि बंगाल में ऐसी मान्यता हैं कि बंगाली समाज के हर वर्ग के लोग जागरूक होते हैं...उसका तुरंत जवाब था जो होगा बंगाल के लिए सही होगा...अगर सरकार बदलती हैं तो लोग परिवर्तन का स्वाद तो ले पायेंगे...क्योकि अच्छी सरकार क्या होती हैं ये लोगो को पता ही नहीं। पिछले 34 साल से एक तरफा सरकार का राज चल रहा हैं...और इसी 34 साल में पीढ़ी जन्मा, जवान भी हो गया...राकेश, टैक्सी ड्राईवर भी इसी पीढ़ी में ही जन्मा हैं...तो वो बदलाव चाहता हैं।

छोटी कोशिशों का बड़ा मंच फेसबुक Misc

Piyush Pandey

सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक की लोकप्रियता को लेकर अब किसी बहस की गुंजाइश नहीं है। मिस्र की क्रांति से लेकर अन्ना हजारे के आंदोलन तक कई मौकों पर फेसबुक की अहम भूमिका दुनिया देख चुकी है। नतीजा उपयोक्ताओं की संख्या में लगातार बढ़ोतरी। यह संख्या अब 60 करोड़ के आंकड़े को पार कर चुकी है। सदस्यों की संख्या के लिहाज से दुनिया के तीसरे सबसे बड़े मुल्क की ‘संज्ञा’ पा चुकी फेसबुक की अपार लोकप्रियता की वजह यूं तो कई हैं, लेकिन एक बड़ी वजह है छोटी-छोटी निजी कोशिशों को सफलता दिलाने के बड़े मंच के रुप में इसका उदय।

दि‍ग्विजय के ओसामा 'प्रेम' के मायने Misc

Dr. Shiv Kumar Rai

दुनिया का सबसे खूंखार आतंकवादी ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के बाद उत्तर प्रदेश के वाराणसी शहर में कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह एक प्रेस कांफ्रेंस में मारे गए इस खतरनाक आतंकवादी को ओसामा जी कहकर संबोधित किया। इससे पहले अल कायदा के इस आतंकवादी को समुद्र में दफनाए जाने पर दिग्विजय सिंह ने कहा था कि कोई चाहे जितना बड़ा आतंकवादी हो, लेकिन मरने के बाद उसका अंतिम संस्कार उसके धार्मिक रीति-रिवाज से ही करना चाहिए।

ख़्वाब को जीने का नाम है कौन बनेगा करोड़पति Misc

Piyush Pandey

इस ‘कुर्सी’ में ग़ज़ब का सम्मोहन है। इस कदर कि भारतीय टेलीविजन की दुनिया का लगभग हर दर्शक इस करामाती कुर्सी पर बैठने को बेताब है। आखिर, बीते दस साल में कई लोगों के ख्वाबों में सुनहरा रंग भरा है इस कुर्सी ने! यह सत्ता की कुर्सी नहीं और न ही किसी कॉरपोरेट घराने के सबसे ऊंचे ओहदे की कोई कुर्सी है। यह ‘हॉट सीट’ है। देश के सबसे चर्चित और लोकप्रिय रिएलिटी शो ‘कौन बनेगा करोड़पति’ की हॉट सीट।

ज्योतिष लेख