Jyotish RSS Feed
दुर्गा सप्तमी 3 अक्टूबर 2011 पर विशेष Astrology

Anirudha Sharma

जो जगत के जीवों को धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष रूप चारों फल प्रदान करने वाली हैं, जो जन्म, मृत्यु, जरा और व्याधि का अपहरण करने वाली परात्परा हैं, जो मोक्षदायिनी, भद्रा तथा शिवभक्ति प्रदान करने वाली हैं, ऐसी दुर्गे देवी का स्मरण करने मात्र से जटिल से जटिल क्लेशों का समूल रूप से नाश हो जाता है। श्री दुर्गा देवी का प्राकट्य शरदनवरात्रि में हुआ था।

ज्योति स्वरुपा मॉ ज्वाला देवी (4 अक्टूबर दुर्गा अष्टमी पर विशेष) Astrology

Aniruddh Sharma

हिमाचल प्रदेश में धर्मशाला से 56 किमी0 तथा कांगड़ा जिले से 34 किमी0 की दूरी पर विश्व-प्रसिद्ध शक्तिपीठ ज्वालामुखी स्थित है। इसे ज्वालाजी अथवा ज्वाला देवी के नाम से भी जाना जाता है। ज्वालाजी शक्तिपीठ को उत्तर-भारत के समस्त शक्तिपीठों में सर्वोपरि माना गया है।

मनोरथ पूरा करने वाली पटना की पटन देवी Astrology

agency

नवरात्र आरम्भ होने के साथ ही मां दुर्गा के मंदिरों में भक्तों की भीड़ लगने लगती है। देश के शक्तिपीठों में भक्तों का नवरात्र के समय जनसैलाब उमड़ पड़ता है। पटना में ऐसा ही एक शक्ति पीठ हैं- 'पटन देवी'।

सांस्कृतिक मेलजोल का प्रतीक है चीन स्थित बौद्ध मंदिर Astrology

agency

चीन में सरकार द्वारा संचालित एक बौद्ध मंदिर चीनी एवं भारतीय संस्कृतियों की संगमस्थली है और सांस्कृतिक मेलजोल की शानदार उपलब्धियों का प्रतीक है। कई भारतीय नेता इस मंदिर का दर्शन कर चुके हैं।

नवरात्र व्रत या तले-भुने खाने से परहेज Ayurveda

agency

नवरात्र के दौरान ज्यादातर लोग धार्मिक कारणों से नौ दिन का व्रत रखते हैं लेकिन कुछ अन्य, खासकर युवा तले-भुने खाने से बचने और अपने शरीर से व्यर्थ पदार्थो को बाहर निकालने की दृष्टि से यह उपवास करते हैं। वैसे विशेषज्ञ चेतावनी देते हैं कि अत्यधिक भूखा रहना आपके लिए मुसीबत खड़ी कर सकता है।

चलो माँ के द्वारे Astrology

Anirudha Sharma

माता वैष्णव देवी के दर्शन के लिए सालों भर भक्तों का रेला लगा रहता है। खास कर नवरात्रों में तो यहां देश विदेश से भक्तगण आते हैं। अगर आप भी वैष्णव देवी जाने की सोच रहे हैं तो यहां चढाई से लेकर देवी के दर्शन तक की यात्रा के बारे में विस्तार में जानकारी दी जा रही है।

मनोकामनाओं की पूर्ति का मार्ग नवरात्रि Astrology

Ram Hari Sharma

हे ॐ जयन्ती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा और स्वधा इन नामों से प्रसिद्ध जगदम्बिके तुम्हें मेरा नमस्कार हो।

पितरों को समर्पित श्राद्धपक्ष की अहमियत Astrology

Aniruddh Sharma

अपने स्वर्गवासी पूर्वजों की शान्ति एवं मोक्ष के लिए किया जाने वाला दान एवं कर्म ही श्राद्ध कहलाता है। जिसने हमें जीवन दिया, उसके लिए, जिसने हमें जीवन देने वाले को जीवन दिया, उसके लिए तथा जो हमारे कुल एवं वंश का है, उसके लिए। इस प्रकार तीन पीढि़यों तक के लिए किया जाने वाला होम, पिण्डदान तथा तर्पण (जल-भोजन) ही श्राद्धकर्म कहलाता हैं।

हरि अनन्त, हरि कथा अनन्ता : अनंत चतुर्दशी पर विशेष Astrology

agency

भारत देश की पवित्र भूमि अनेक प्रकार के अनूठे व्रत और पर्वों के लिए प्रसिद्ध है। ऐसा ही एक प्रसिद्ध और कल्यारणकारी व्रत है अनन्तह चतुर्दशी-व्रत। भादों मास की शुक्ल चतुर्दशी विश्व में अनन्तचतुर्दशी के नाम से विख्याअत है।

दिल्ली में आए भूकम्प का ज्योतिषीय विश्लेषण Astrology

hindilok

7 सितम्बर, 2011 को रात के तक़रीबन 11:28 बजे मध्यम तीव्रता का भूकम्प दिल्ली और आस-पास के इलाक़ों में महसूस किया गया। रिक्टर स्केल पर भूकम्प के इन झटकों की तीव्रता को 4.2 मापा गया, जिसका केन्द्र हरियाणा के सोनीपत में था। ये झटके दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के ग़ाज़ियाबाद और नोएडा तथा हरियाणा के गुड़गांव में भी महसूस किए गए। इन झटकों को लगभग 10 सेकेण्ड तक महसूस किया जाता रहा।

ज्योतिष लेख