Khabar RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

सम्‍पूर्ण उत्तर भारत में गर्मी दिखा रही उग्र तेवर

the heat is still effect bad

19 मई 2011

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश और बिहार में बारिश और आंधी के बाद गुरुवार को तापमान में कमी दर्ज की गई लेकिन दिल्ली, पंजाब और हरियाणा सहित उत्तर भारत के अन्य प्रदेशों में गर्मी अभी भी लोगों को पसीने छुड़ा रही है।

मौसम विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक पिछले 24 घंटों में दिल्ली का अधिकतम तापमान 42.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से तीन डिग्री ज्यादा है साथ ही न्यूनतम तापमान भी सामान्य से चार डिग्री ज्यादा 28.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

पंजाब और हरियाणा में गर्मी ने लोगों को बेहाल कर दिया है। अमृतसर में पिछले 24 घंटे में अधिकतम तापमान सामान्य से छह डिग्री ज्यादा 45.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। न्यूनतम तापमान भी सामान्य से 6 डिग्री ज्यादा 25.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। हरियाणा के हिसार में तापमान सामान्य से छह डिग्री ज्यादा 46.2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया।

बिहार की राजधानी पटना में मौसम ने कुछ तेवर नर्म किए हैं यहां अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 36 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस कम 23.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

भोपाल में लोगों को गर्मी से फिलहाल कोई राहत नहीं मिली है यहां तापमान सामान्य से तीन डिग्री सेल्सियस ज्यादा 43.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। न्यूनतम तापमान भी सामान्य से तीन डिग्री सेल्सियस ज्यादा रहा।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पारा नीचे आया है और यहां अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 40.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। आगरा में अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री ज्यादा 44.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

उत्तर प्रदेश, बिहार में बुधवार शाम को तेज आंधी के कारण हुई विभिन्न दुर्घटनाओं में 43 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी।

उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थ नगर, जौनपुर और बनारस में सबसे ज्यादा लोग आंधी के शिकार हुए। तेज आंधी के कारण पेड़ और मकानों की दीवारें ढहने से हुई दुर्घटनाओं में कम से कम 30 लोगों की मौत हुई।

सिद्धार्थ नगर में आठ, जौनपुर में सात और बनारस, भदोही और अंबेडकर नगर में पांच-पांच लोगों की मौत हुई। सिद्धार्थ नगर में एक जीप पर पेड़ गिरने से इसमें सवार तीन महिलाओं सहित आठ लोगों की मौत हो गई। जौनपुर में भी पेड़ और मकानों की दीवारें गिरने से सात लोगों की मौत हुई।

भदोही, अंबेडकर नगर, बनारस, इलाहाबाद, गोरखपुर और बहराइच में भी आंधी के कारण तबाही हुई। भदोई, अंबेडकर नगर और बनारस में हुई दुर्घटनाओं में पांच-पांच लोगों की मौत की खबर है। वहीं आगरा में बारिश के कारण लोगों को गर्मी से काफी राहत मिली।

बिहार के विभिन्न जिलों में पिछले 24 घंटों में तेज आंधी और बारिश के कारण अलग-अलग घटनाओं में जहां कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई वहीं दूसरी ओर अधिकतम तापमान में कमी आने से लोगों को गर्मी से हल्की राहत मिली।

जमुई जिले के सिकंदरा प्रखंड के सिल्हौली गांव में बिजली गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई। इधर, प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी अजय कुमार दास ने गुरूवार को बताया कि मृतक के परिजनों को कबीर अंत्येष्टि योजना के तहत 15-15 सौ रुपए और पारिवारिक लाभ योजना के तहत 10-10 हजार रुपए की सहायता दी गई है।

पिछले 24 घंटे के दौरान शेखपुरा में चार, सहरसा में तीन, मधेपुरा में दो और अररिया में एक व्यक्ति की मौत हुई है। अधिकारिक सूत्रों के अनुसार मधेपुरा के शंकरपुर प्रखंड के कोल्हुआ गांव में सोनु मंडल तथा गिद्घा गांव में रूबी देवी की मौत बिजली गिरने से हो गई।

शेखपुरा में एक मकान की दीवार ढहने से सात वर्षीय दिलीप और चार वर्षीया नेहा की मौत हो गई तो कोरमा थाना के पुरैना गांव में 50 वर्षीय गिरिजा देवी की मौत आंधी की चपेट में आने से हो गई। जबकि एक मकान पर बिजली गिरने से बेबी देवी की मौत घटनास्थल पर ही हो गई। इस घटना में दो लोग घायल भी हुए हैं।

शेखपुरा के जिलाधिकारी धर्मेन्द्र सिंह ने बताया कि सभी मृतकों के परिजनों को एक-एक लाख रुपये मुआवजा दिया जाएगा।

सहरसा में सोनबरसा प्रखंड में तेज आंधी ने एक दर्जन से ज्यादा मकानों को नुकसान पहुंचाया तो एक मकान के गिरने से उसके मालिक की मौत हो गई। मौसम विभाग ने पूर्णिया समेत सीमांचल जिलों में अगले 24 घंटे के दौरान आंधी आने की चेतावनी जारी की है।

पटना मौसम विज्ञान केन्द्र के निदेशक अनिमेष चंद्रा ने गुरुवार को बताया कि अगले चौबीस घंटे में राज्य के कई इलाकों में तेज हवा के साथ बारिश होने की संभावना है, इस कारण अधिकतम तापमान में कमी आएगी। उन्होंने कहा कि मानसून के पूर्व तेज आंधी आना स्वाभाविक प्रक्रिया है।

More from: Khabar
20825

ज्योतिष लेख