Get free astrology & horoscope 2013
Khabar RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

इफ्फी में नाकामयाब हो सकता है बॉलीवुड : अधिकारी

rajnikanth-bollywood-09102013
9 अक्टूबर 2013
पणजी|
इफ्फी में इस बार बॉलीवुड की फिल्में नाकामायाब हो सकती हैं। मंगलवार को एक अधिकारी ने यह बात कही। गोवा में भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (इफ्फी) का आयोजन करने वाली दो सरकारी एंजेंसियों में से एक एंटरटेनमेंट सोसाइटी ऑफ गोवा के उपाध्यक्ष विष्णु वाघ ने फिल्म महोत्सव निदेशालय के अधिकारियों से बैठक के बाद यहां संववाददाताओं से कहा, "इफ्फी गंभीर फिल्मों के लिए है न कि नई बॉलीवुड फिल्मों के लिए।"

उन्होंने यह भी बताया कि बैठक में सरकारी विश्राम भवन के कॉकरोचों को खत्म करने की आवश्यकता पर भी चर्चा हुई।

उन्होंने कहा, "हमें विश्राम भवन को कॉकरोचों से मुक्त करना होगा।"

विश्राम भवन और अन्य सरकारी भवनों में फिल्म महोत्सव आयोजन के संगठनात्मक अधिकारियों और कुछ प्रतिनिधियों के ठहरने की व्यवस्था की जाएगी।

वाग ने बताया कि चिकित्सकीय कारणों से सुपरस्टार रजनीकांत को इफ्फी के उद्घाटन समारोह में आने में मुश्किल हो सकती है।

वाग ने कहा, "लेकिन हम उन्हें बुलाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।"

वर्ष 2004 में शुरू हुआ इफ्फी हर साल गोवा में आयोजित होता है।
More from: Khabar
35377

मनोरंजन
जानें ऑडिशन में सफल होने के गुर

एक्टिंग में करियर बनाने वाले लोगों के लिए मनोज रमोला ने लिखी है एक किताब जिसका नाम है ऑडिशन रूम। इस किताब में लिखे हैं ऑडिशन में सफल होने के सभी गुर।

ज्योतिष लेख
इंटरव्यू
मेरा अलग 'लुक' भी मेरी पहचान है : इमरान हसनी

हिन्दी सिनेमा में चरित्र अभिनेताओं के संघर्ष की राह आसान नहीं होती। इन्हीं रास्तों में से गुज़र रहे हैं इमरान हसनी। 'पान सिंह तोमर' में इरफान खान के बड़े भाई की भूमिका निभाकर चर्चा में आए इमरान हसनी अब इंडस्ट्री में नयी पहचान गढ़ रहे हैं। यूं कशिश व रिश्तों की डोर जैसे सीरियल और ए माइटी हार्ट जैसी अंतरराष्ट्रीय फिल्में उनके झोले में पहले ही थीं। एक ज़माने में सॉफ्टवेयर इंजीनियर रहे इमरान से अभिनय के शौक व उनकी चुनौतियों के बारे में बात की गौरी पालीवाल ने।

बॉलीवुड एस्ट्रो
बोलता कैलेंडर: तारीख़, समय, मुहूर्त को बोलकर बताता है यह ऐप

बोलता कैलेंडरबोलेगा आज की तारीख़, समय, दिन, राहुकाल, अभिजीत मुहूर्त, तिथि, नक्षत्र, योगा, करण, पंचक, भद्रा, होरा और चौघड़िया साल 2019 के लिए।