Khabar RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

दुश्मन का नाश करेगी बैलेस्टिक मिसाइल 'प्रहार'

india-test-fired-prahar-missile-07201121
21 जुलाई 2011
 
भुवनेश्वर। भारत की मिसाइल क्षमता में और इजाफा हुआ है। गुरुवार को उड़ीसा के बालासोर में जब 150 किलोमीटर तक मार करने वाली 'प्रहार' मिसाइल को दागा गया तो ये एक नई उपलब्धि थी। प्रहार एक ही बार में एक साथ कई निशानों को भेदने की क्षमता से लैस है। 'प्रहार' पर पारंपरिक वॉरहेड लगाए जा सकते हैं। सुपरसोनिक मल्टीरोल क्रूज मिसाइल 'बह्मोस' की तरह 'प्रहार' भी कही भी ले जाने में सक्षम हथियार है। इसे कही भी ले जाया जा सकता है। ट्रक पर बनाए गए इसके ट्रांसपोर्ट इरेक्टर लांचर में 6 'प्रहार' मिसाइले होती है। टीईएल के साथ एक अलग ट्रक में 6 और 'प्रहार' मिसाइलें रखी जा सकती है ताकि ज़रुरत पड़ने पर उनका इस्तेमाल हो सके।

कम दूरी की यह नई मिसाइल 'प्रहार' 150 किलोमीटर दूर लक्ष्य को आसानी से भेद सकती है। उड़ीसा में बालासोर जिले के चांदीपुर में एकीकृत परीक्षण रेंज से इस मिसाइल को सुबह 8 बजकर 15 मिनट पर कॉम्पलेक्स 3 से छोड़ा गया।  150 किलोमीटर क्षमता वाली इस मिसाइल के परीक्षण को डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट आर्गनाइजेशन ने सफल बताया है।

पिनाका मल्टीपल राकेट सिस्टम की ही तरह एक ही बार में कई 'प्रहार' मिसाइले दागी जा सकती है औऱ अलग-अलग निशाने भेद सकती है। हालांकि गुरुवार को एक ही मिसाइल दागी गई।

डीआरडीओ के सूत्रों ने बताया कि 'प्रहार' भारतीय सेना की गाइडेड मिसाइल की जरुरतों को पूरा करेगी। 45 किलोमीटर रेंज की पिनाका और 250 से 350 किलोमीटर क्षमता वाली पृथ्वी मिसाइल के बीच की कमी को दूर करने के मकसद से 'प्रहार' मिसाइल को विकसित किया गया है।

More from: Khabar
22933

ज्योतिष लेख