Rang-Rangili RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

तनाव का पड़ता है ड्राइविंग पर भी असर

Driving is also affected by stress

18 मई 2011

सिडनी। तनाव और चिंता न केवल लोगों के स्वास्थ्य को प्रभावित करती है, बल्कि यह ड्राइविंग पर भी असर डालती है। तनाव और चिंताग्रस्त युवा चालकों के साथ अक्सर सड़कों पर असुरक्षा का खतरा बना रहता है।
एक नए अध्ययन के मुताबिक तनाव के कारण जोखिमभरे वाहन चलाने का व्यवहार 8.5 प्रतिशत तक बढ़ गया। शोध में 760 युवाओं को शामिल किया गया। यह शोध क्वींसलैंड यूनीवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी के बर्डाई स्कॉट-पार्कर ने किया है।

पार्कर के अनुसार, तनाव के कारण महिलाओं में वाहन चलाने के दौरान जोखिमभरा व्यवहार अधिक पाया गया। महिलाओं में यह 9.5 प्रतिशत रहा तो पुरुषों में 6.7 प्रतिशत।

उन्होंने कहा कि हम पहले से जानते हैं कि मनोवैज्ञानिक तनाव के कारण किशोरों में असुरक्षित यौन सम्बंध, धूम्रपान तथा अधिक मात्रा में शराब का सेवन बढ़ता है। इस नए अध्ययन से यह भी साबित होता है कि तनाव के कारण युवाओं में जोखिम भरे वाहन चलाने का व्यवहार भी बढ़ता है। गाड़ी तेजी से चलाना, सीट बेल्ट नहीं बांधना और गाड़ी चलाने के दौरान मोबाइल फोन पर बात करना इसी के नतीजे हैं।

More from: Rang-Rangili
20812

ज्योतिष लेख