Get free astrology & horoscope 2013
Shayari RSS Feed
वादा Misc

Piyush

मज़हबी दीवारों के साए में अब पतंगे नहीं उड़तीं
कभी मेरी गली की छतों पर शहर बसा करता था।

वादा Misc

Piyush

जिसे देखो अपना ही दर्द बेचने निकला है
अजीब बाज़ार है कोई खरीदार नहीं दिखता


ताजातरीन / What's Hot
मनोरंजन

ज्योतिष लेख
इंटरव्यू

बॉलीवुड एस्ट्रो