Khabar RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

नोएडा में जमीन उचित प्रक्रिया के तहत मिली : जयंत भूषण

bhushan-family-got-noida-land-under-process-04201120

20 अप्रैल 2011

नई दिल्ली। लोकपाल विधेयक तैयार करने के लिए गठित संयुक्त समिति के सह अध्यक्ष शांति भूषण के छोटे पुत्र जयंत भूषण ने बुधवार को कहा कि उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती द्वारा उन्हें कम कीमत पर आवंटित की गई भूमि के लिए उचित प्रक्रिया अपनाई गई थी। उन्होंने कहा कि यह आरोप परिवार की छवि खराब करने की ताजा कोशिश है।

भूषण परिवार ने यह भी कहा है कि वे उस अखबार के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करेंगे, जिसने खबर प्रकाशित की है कि शांति और जयंत भूषण को 'एक आवाज' पर 10,000 वर्ग मीटर के दो भूखण्ड मिले।

जयंत ने संवाददाताओं से कहा, "हमने प्रक्रिया के तहत भूमि के लिए आवेदन किया था और वह हमें मिली। यह आरोप मेरे पिता और भाई की छवि को खराब करने की लगातार की जा रही कोशिशों का हिस्सा है।"

जयंत ने कहा, "यदि आवेदकों की संख्या अधिक थी, तो उसके लिए लॉटरी निकाली जानी चाहिए थी। यदि ऐसा नहीं हुआ तो मैं मानता हूं कि प्रक्रिया गलत थी।" उन्होंने कहा कि यदि प्रक्रिया गलत थी तो उनका परिवार भूखण्ड लौटाने को तैयार है।

उन्होंने इस बात से इंकार किया कि मायावती सरकार ने उनका किसी तरह का पक्ष लिया था।

ज्ञात हो कि शांति भूषण और उनके पुत्र प्रशांत भूषण, भ्रष्टाचार निरोधी सख्त कानून तैयार करने के लिए गठित संयुक्त समिति में जब से सदस्य बनाए गए हैं, तब से उन्हें आरोपों का सामना करना पड़ रहा है।

नोएडा में हुए भूखण्ड आवंटन को इलाहाबाद उच्च न्यायालय में चुनौती देने वाले अधिवक्ता विकास सिंह ने कहा कि उन्होंने भूषण परिवार का नाम नहीं लिया है। विकास सिंह ने टेलीविजन चैनलों को फोन पर बताया, "मेरी याचिका में उनके नाम नहीं हैं। मुझे एक आवंटन हुआ, और मैंने महसूस किया कि आवंटन केवल उन लोगों को हुए, जो उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार के मुद्दों को उठा रहे थे। इसलिए मैंने इसके खिलाफ एक याचिका दायर कर दी।"

भूषण परिवार का बचाव करते हुए भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) की पूर्व अधिकारी किरण बेदी ने कहा कि भूषण परिवार को उचित तरीके से भूखण्ड मिले हैं।

More from: Khabar
20163

ज्योतिष लेख