Khabar RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

अन्ना हजारे का अनशन चौथे दिन भी जारी

anna fast continues

8 अप्रैल 2011

नई दिल्ली। सख्त लोकपाल विधेयक की मांग कर रहे गांधीवादी और वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे का आमरण अनशन शुक्रवार को चौथे दिन भी जारी है।

अनशन के तीसरे दिन गुरुवार को सरकार और अन्ना हजारे के प्रतिनिधियों के बीच हुई बातचीत में कुछ ठोस नतीजा निकलकर सामने नहीं आया। गुरुवार देर शाम कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी अन्ना हजारे से अनशन खत्म करने की अपील की लेकिन वह अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं।

जन लोकपाल विधेयक तैयार करने के लिए सामाजिक संगठनों और सरकार के प्रतिनिधियों की संयुक्त समिति बनाने की मांग को लेकर अन्ना हजारे का अनशन चौथे दिन भी जारी है। इस बीच उन्हें देश विदेश से व्यापक समर्थन मिल रहा है। जैसे-जैसे उनके आंदोलन के दिन बढ़ रहे हैं, वैसे-वैसे उनके साथ लोग जुड़ते जा रहे हैं। जो जहां है वहीं से अन्ना का अपने-अपने तरीके से समर्थन कर रहा है।

अन्ना हजारे के इस अनशन को मिल रहे समर्थन से हलकान हुई सरकार की तरफ से केंद्रीय दूरसंचार और मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल को बातचीत का जिम्मा सौंपा गया तो अन्ना हजारे की तरफ से समाजसेवी स्वामी अग्निवेश और सूचना अधिकार कार्यकर्ता अरविंद केजरीवाल आगे आए।

इनके बीच दो दौर की बातचीत हुई और इस बातचीत में कुछ मुद्दों पर सहमति तो बनी लेकिन दो प्रमुख मुद्दों पर सहमति नहीं बन सकी।

गुरुवार दोपहर 1.30 बजे सिब्बल और स्वामी अग्निवेश तथा अरविंद केजरीवाल के बीच हुई बातचीत में संयुक्त समिति के गठन के लिए अधिसूचना जारी करने और समिति का अध्यक्ष अन्ना हजारे को बनाए जाने को लेकर सहमति नहीं बन पाई।

सरकार बिना अधिसूचना जारी किए एक संयुक्त समिति बनाने पर सहमत हो गई है लेकिन अन्ना हजारे के प्रतिनिधियों की मांग थी कि इसके लिए सरकार बाकायदा अधिसूचना जारी करे। इसके अलावा संयुक्त समिति का अध्यक्ष अन्ना हजारे को बनाया जाए। हालांकि अन्ना हजारे ने कहा है कि वह समिति का अध्यक्ष नहीं बनना चाहते। उनका कहना था कि वह यदि समिति के अध्यक्ष बन गए तो लोग यह समझ बैठेंगे कि उन्होंने इसके लिए ही आमरण अनशन किया था।

 


 

More from: Khabar
19809

ज्योतिष लेख