Khabar RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

दिल्ली उच्च न्यायालय विस्फोट के बाद हाई अलर्ट

after-blast-near-high-court-alert-in-delh
25 मई 2011
 

नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय परिसर के बाहर बुधवार दोपहर कम तीव्रता का एक देसी बम विस्फोट हुआ। इसमें किसी के हताहत होने या किसी नुकसान की सूचना नहीं है।

पुलिस के मुताबिक, यह विस्फोट अदालत परिसर से कुछ ही मीटर की दूरी पर दोपहर करीब 1.15 बजे हुआ। विस्फोट अदालत परिसर के पीछे पार्किं ग में खड़ी फोर्ड फिगो कार के नजदीक हुआ।

पुलिस के अनुसार, धमाके के मकसद के बारे में अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। वहीं, दिल्ली उच्च न्यायालय की बार काउंसिल के सचिव डी. के. शर्मा ने इसे साजिश करार देते हुए बेहतर सुरक्षा व्यवस्था की मांग की।

वहीं, न्यायमूर्ति संजय किशन कौल तथा न्यायमूर्ति जी. एस. सिस्तानी ने धमाके के बाद घटनास्थल का निरीक्षण किया और कहा कि वे अदालत परिसर में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा करेंगे।

विशेष पुलिस आयुक्त धर्मेद्र कुमार ने संवाददाताओं से कहा, "दिल्ली उच्च न्यायालय के गेट नम्बर सात के नजदीक पार्किं ग में खड़ी कार के पास एक छोटा पैकेट रखा हुआ था।"

उन्होंने इन खबरों से इंकार किया कि पैकेट में छर्रे रखे थे। कुमार ने स्पष्ट किया कि पहले ऐसा प्रतीत हुआ था कि धमाका पार्किं ग में खड़ी अधिवक्ता आर. जैन की कार में हुआ। जांच से मालूम हुआ कि यह देसी बम था।

उन्होंने जोर देकर कहा, "यह दुर्घटना नहीं थी। यह कम तीव्रता का धमाका था। विस्फोट खुले परिसर में हुआ और कोई भी वहां पहुंच सकता है। जिस वकील की कार थी, उनका धमाके से कोई लेना-देना नहीं है।" उन्होंने बताया कि पार्किं ग में खड़ी किसी और कार को भी कोई क्षति नहीं हुई।

वहीं, एक प्रत्यक्षदर्शी संजय ने बताया, "पार्किं ग स्थल पर अचानक विस्फोट हुआ। हम घटनास्थल की तरफ दौड़े और देखा कि कार के पास काले रंग का एक बैग जल रहा था।"

पार्किं ग कर्मचारी धर्मवीर ने कहा, "हम अदालत की कैंटीन गए और आग बुझाने के लिए बाल्टियों में पानी भरकर लाए।"

More from: Khabar
20986

ज्योतिष लेख