Get free astrology & horoscope 2013
Samanya RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

अजरुद्दीन के बेटे अयाजुद्दीन की मौत

the ex captain of indian cricket team and the present

16 सितंबर 2011

हैदराबाद। 5 दिनों तक जिंदगी और मौत से जूझते अजाज़ ने आज मौत के सामने हार मान ली। अज़रुद्दीन का 19 वर्षीय बेटा अयाज़ अब इस दुनिया में नहीं रहा। शुक्रवार को हैदराबाद के अपोलो अस्पताल में अयाज़ ने अपनी आखिरी सांस ली। अयाज़ 11 सितंबर की सुबह एक सड़क हादसे में बुरी तरह से जख्मी हो गया था।

अयाजुद्दीन 11 सितंबर की सुबह अपने फुफेरे भाई अज़मल-उर-रहमान के साथ अपने दोस्तों से मिलने स्पोर्ट्स बाइक पर निकला था। ये बाइक अज़रुद्दीन ने ही अयाज़ को उसके जन्मदिन पर गिफ्ट किया था। बाइन बिलकुल नयी थी और अभी बाइक का रजिस्ट्रेशन तक नहीं हुआ था। कहा जा रहा है कि अयाज़ दोस्तों के साथ बाइक रेस लगा रहा था। अयाज़ के साथ अज़मल भी बैठा था। रेस के चक्कर में अयाज़ ने बाइक की रफ्तार को 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार में भगा रहा था। ये लोग अयाज़ के घर बंजारा हिल्स की तरफ जा रहे थे। तभी अयाज़ की बाइक फिसल गई। रफ्तार तेज होने की वजह से अज़मल की मौके पर ही मौत हो गई और अयाज़ को चिंताजनक स्थिति में अस्पताल भर्ती कराया गया।

भर्ती के बाद से ही अयाज़ की स्थिति चिंता जनक बनी हुई थी। अयाज़ को लगातार लाइफ सपोर्टिंग सिस्टम पर रखा गया था। डॉक्टरों का कहना था कि अयाज़ के सीने से लगातार रक्त बह रहा है। इसके अलावा अयाज़ को सिर, सीने और पेट में काफी चोटें आई थी। डाक्‍टरों ने बताया कि उनके दिमाग की नसें काम करना बंद कर दी थी जिससे वह जबतक वेंटिलेटर पर थे कोमा में रहे।

लेकिन अयाज़ को बचाने की डॉक्टरों की सारी कोशिशें बेकार साबित हुई। शुक्रवार की दोपहर लगभग 12 बजे अयाज़ की मौत हो गई।

अयाज़ अजरुद्दीन और उनकी पहली पत्नी नौरीन का बेटा था। अज़हर और नौरीन के दो बेटे थे। अयाज़ को अपने पिता की ही तरह क्रिकेट खेलने का बहुत शौक था। अज़हर भी उसे क्रिकेट के लिए काफी प्रोत्साहित करते थे। अयाज़ की मौत से अज़हर और उनके परिवार को गहरा आघात लगा है।

More from: samanya
24823

मनोरंजन
जानें ऑडिशन में सफल होने के गुर

एक्टिंग में करियर बनाने वाले लोगों के लिए मनोज रमोला ने लिखी है एक किताब जिसका नाम है ऑडिशन रूम। इस किताब में लिखे हैं ऑडिशन में सफल होने के सभी गुर।

ज्योतिष लेख
इंटरव्यू
मेरा अलग 'लुक' भी मेरी पहचान है : इमरान हसनी

हिन्दी सिनेमा में चरित्र अभिनेताओं के संघर्ष की राह आसान नहीं होती। इन्हीं रास्तों में से गुज़र रहे हैं इमरान हसनी। 'पान सिंह तोमर' में इरफान खान के बड़े भाई की भूमिका निभाकर चर्चा में आए इमरान हसनी अब इंडस्ट्री में नयी पहचान गढ़ रहे हैं। यूं कशिश व रिश्तों की डोर जैसे सीरियल और ए माइटी हार्ट जैसी अंतरराष्ट्रीय फिल्में उनके झोले में पहले ही थीं। एक ज़माने में सॉफ्टवेयर इंजीनियर रहे इमरान से अभिनय के शौक व उनकी चुनौतियों के बारे में बात की गौरी पालीवाल ने।

बॉलीवुड एस्ट्रो
बोलता कैलेंडर: तारीख़, समय, मुहूर्त को बोलकर बताता है यह ऐप

बोलता कैलेंडरबोलेगा आज की तारीख़, समय, दिन, राहुकाल, अभिजीत मुहूर्त, तिथि, नक्षत्र, योगा, करण, पंचक, भद्रा, होरा और चौघड़िया साल 2019 के लिए।