Samanya RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

ये शर्तें नहीं मंजूर - अरविंद केजरीवाल

all conditions given by delhi police for the rally in jp park are not acceptable by anna hazare

15 अगस्त 2011

लगता है केन्द्र सरकार गांधीवादी सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हज़ारे के आंदोलन के रोकने के लिए अब दिल्ली पुलिस का सहार ले रही है। जिन शर्तों को लेकर दिल्ली पुलिस अन्ना हज़ारे के आंदोलन को कुचलने की कोशिश कर रही है, वो शर्तें असल में बेमायने हैं। टीम हज़ारे के वरिष्ठ सदस्य अरविंद केजरीवाल ने स्पष्ट कर दिया कि क्यों उन्हें दिल्ली पुलिस की 22 में से 6 शर्तें नामंजूर है। जिन 6 शर्तों पर अन्ना की टीम को एतराज़ है, वे शर्तें हैं -

शर्त नंबर 1 - टीम अन्ना जेपी पार्क में 5000 से ज्यादा लोगों को इकट्ठा नहीं कर सकतें।

टीम अन्ना का विरोध - जेपी पार्क में 5000 से ज्यादा लोगों के लिए जगह है। खुद आधिकारिक आंकड़ों में इस जगह के लिए 10,000 लोगों के आने की अनुमति दी गई है। इसके अलावा जेपी पार्क में इससे पहले कई राजनैतिक रैलियां हो चुकी हैं जिनमें लाखों की तादात में लोग जुटें हैं। तो फिर 2000 लोगों की शर्त टीम हज़ारे पर ही क्यों?

शर्त नंबर 2 - जेपी पार्क में 50 से ज्यादा गाड़ियों को पार्किंग की अनुमति नहीं है।

टीम अन्ना का विरोध - जेपी पार्क में गाड़ियों की पार्किंग के लिए अलग से व्यवस्था है। इसमें 50 से ज्यादा गाड़ियां आराम से पार्क की जा सकती हैं।

शर्त नंबर 3 - अन्ना 3 दिन से ज्यादा अनशन पर नहीं बैठ सकते हैं।

टीम अन्ना का विरोध - ये अन्ना हज़ारे की स्वतंत्रता का उल्लंघन है। वो कितने दिन अनशन पर बैठेंगे, ये दिल्ली पुलिस कैसे तय कर सकती हैं।

शर्त नंबर 4 - अन्ना हज़ारे के स्वास्थ्य की देख भाल सरकारी डॉक्टर करेगें।

टीम अन्ना का विरोध - टीम अन्ना को सरकारी तंत्र पर यकीन नहीं है। उनका मानना है कि सरकारी डॉक्टर सरकार से प्रभावित होकर ही काम करेगी।

शर्त नंबर 5 - अन्ना की टीम जेपी पार्क में टेंट नहीं लगा सकती है।

टीम अन्ना का विरोध - बारिश के दिनों में टेंट नहीं लगवाने की शर्त अजीबो गरीब है। अगर इस बीच बारिश होती है तो क्या जेपी पार्क में जुटे लोग भींगते रहेंगे!

शर्त नंबर 6 - अन्ना लाउड स्पीकर का प्रयोग नहीं कर सकतें।

टीम अन्ना का विरोध - इस आंदोलन में बड़ी संख्या में लोग जुटेंगे। अगर लाउड स्पीकर के प्रयोग को प्रतिबंधित किया गया तो भीड़ को काबू में लाना मुश्किल होगा। लाउड स्पीकर की मदद से अन्ना लोगों तक अपनी बात पहुंचा सकेंगे। वैसे भी कानून के मुताबिक रात 10 बजे के बाद ही लाउड स्पीकर के प्रयोग पर प्रतिबंध है।

दिल्ली पुलिस की ओर से जारी 22 शर्तों में से सिर्फ 16 शर्तें ही टीम हज़ारे को मंजूर है। बाकि शर्तों पर उन्होंने भी अपना समर्थन देने से इंकार कर दिया है। दिल्ली के दरियागंज थाने में टीम अन्ना ने 16 शर्तों पर हामी भरी है, जिसके बाद दिल्ली पुलिस की ओर से जारी बयान में ये बात साफ हो गई है कि अब अन्ना को जेपी पार्क में आंदोलन की इजाज़त नहीं मिलेगी। फिलहाल जिस तरह की शर्तें दिल्ली पुलिस अन्ना हज़ारे के आंदोलन पर थोपने की कोशिश कर रही है, उसे देखकर यही लगता हैकि कहीं न कहीं केंद्र सरकार दिल्ली पुलिस के कंधों पर बंदूक रख कर अन्ना हज़ारे पर चला रही है।

More from: samanya
23719

ज्योतिष लेख