Samanya RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

स्पीक एशिया का शीर्ष अधिकारी पुलिस हिरासत में

Speak Asia's top official in custody

29 जुलाई 2011

मुम्बई। ग्राहकों के लिए अपने पंजीकृत सदस्यों के जरिये ऑनलाइन सर्वेक्षण करने वाली सिंगापुर की कम्पनी स्पीक एशिया के मुख्य संचालन अधिकारी को मुम्बई पुलिस की अपराध शाखा ने शुक्रवार को हिरासत में लिया।

मुम्बई पुलिस के संयुक्त आयुक्त हिमांशु रॉय ने बताया कि करोड़ों की धोखाधड़ी की जांच लिए पुलिस ने स्पीक एशिया के मुख्य संचालन अधिकारी तारक बाजपेयी को हिरासत में लिया है। बाजपेयी को इंदौर में गिरफ्तार किया गया था और शुक्रवार को मुम्बई लाया गया। तीन अन्य अधिकारियों को भी इस सिलसिले में जल्द ही हिरासत में लिए जाने की सम्भावना है।

बाजपेयी को हिरासत में लिए जाने से दो दिन पहले देश में कम्पनी के बैंक खातों को सील कर दिया गया था। बाजपेयी पर यहां देश में कम्पनी के संचालन की जिम्मेदारी थी। उन्होंने हालांकि इसे एक मामूली जांच बताया।

संवाददाताओं से बातचीत में बाजपेयी ने कहा, "मैं मामूली सी जांच के लिए जा रहा हूं। कम्पनी प्रबंधन स्पीक एशिया के सभी सदस्यों के साथ है। सभी विभागों ने हमें क्लिन चिट दे रखी है। यह भी एक मामूली जांच है।"

उल्लेखनीय है कि कम्पनी ऑनलाइन सर्वेक्षण करने वाले अपने पंजीकृत सदस्यों को इसके लिए बड़ी रकम के भुगतान का दावा करती है। लेकिन वह देश में पंजीकृत नहीं है, जिसकी वजह से उसकी कार्यशैली को लेकर सवाल उठते रहे हैं। पिछले महीने कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय ने भी रजिस्ट्रार ऑफ कम्पनीज को इसके प्रबंधन के सिलसिले में जांच का आदेश दिया था।

देशभर में कम्पनी के 20 लाख सदस्य हैं। धोखाधड़ी के आरोप में कम्पनी के खिलाफ कई जनहित याचिकाएं दायर हैं। लेकिन अपनी वेबसाइट पर कम्पनी ने लिखा है कि इसका व्यवसाय वैध है।

कम्पनी का यह भी दावा है कि अपने खिलाफ धोखाधड़ी के आरोपों की जांच के लिए उसने स्वयं कई एजेंसियों, नियामक ईकाइयों को लिखा है, क्योंकि ऐसे आरोपों से उसकी प्रतिष्ठा और विश्वास को ठेस लग रही है।

More from: samanya
23172

ज्योतिष लेख