Samanya RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

'पान सिंह तोमर' को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का राष्ट्रीय पुरस्कार

paan-singh-tomar-won-national-award
18 मार्च 2013

नई दिल्ली। समीक्षकों द्वारा खूब सराही गई फिल्म 'पान सिंह तोमर' को सोमावार को 60वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में 2012 का सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्म चुना गया। तिग्मांशु धूलिया निर्देशित इस फिल्म के लिए इरफान खान ने सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार भी जीत लिया। इरफान ने इस फिल्म में राष्ट्रीय स्तर के एक एथलीट का किरदार निभाया है, जो बाद में चम्बल घाटी का सबसे दुर्दात डकैत बन गया।

सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार इरफान और मराठी फिल्म 'अनुमति' के लिए विक्रम गोखले को सामूहिक रूप से प्रदान किया गया, जबकि सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार एक अन्य मराठी फिल्म 'धाग' में अभिनय के लिए उषा जाधव के नाम गया।

2012 के लिए प्रतिष्ठित राष्ट्रीय पुरस्कारों की घोषणा फिल्मकार बासु चटर्जी, अरुणा राजे तथा स्वपन मलिक ने की।

फीचर फिल्म श्रेणी के लिए 14 भाषाओं की कुल 38 फिल्मों को राष्ट्रीय पुरस्कारों के लिए चुना गया।

हिंदी फिल्म 'चटगांव' तथा मलयालम फिल्म '101 चोदियांगल' को सामूहिक रूप से निर्देशक की शुरुआती फिल्म का इंदिरा गांधी पुरस्कार प्रदान किया गया।

भरपूर मनोरंजन प्रदान करने वाली सर्वश्रेष्ठ लोकप्रिय फिल्म का राष्ट्रीय पुरस्कार सम्मिलित रूप से हिंदी फिल्म 'विकी डोनर' तथा मलयालम फिल्म 'उस्ताद होटल' को मिला।

मराठी फिल्म 'धाग' के निर्देशक शिवाजी लोटन पाटिल के नाम सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का राष्ट्रीय पुरस्कार घोषित किया गया।

'विकी डोनर' फिल्म का हिस्सा रहे अनु कपूर तथा डॉली अहलूवालिया को क्रमश: सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता और सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया। डॉली को यह पुरस्कार मलयालम फिल्म 'थानीचलांजन' में काम करने वाली अभिनेत्री कल्पना के साथ सम्मिलित रूप से दिया गया।

सर्वश्रेष्ठ बाल अभिनेता का पुरस्कार हिंदी फिल्म 'देख इंडिया सर्कस' में अभिनय के लिए वीरेंद्र प्रताप तथा मलयालम फिल्म '101 चोदियांगल' में अभिनय के लिए मिनन के नाम सामूहिक रूप दिया गया है।

'चटगांव' फिल्म के लिए 'बोलो ना..' गीत गाने वाले प्रख्यात संगीतकार शंकर महादेवन को सर्वश्रेष्ठ पुरुष पाश्र्वगायक तथा मराठी फिल्म 'आरती अंकलेकरतीकेकर' के लिए 'पलकें ना मूंदों..' को आवाज देने वाली संहिता को सर्वश्रेष्ठ पाश्र्वगायिका के राष्ट्रीय सम्मान से नवाजा गया।

मौलिक पटकथा लेखक का राष्ट्रीय पुरस्कार 'कहानी' फिल्म के लिए सुजॉय घोष, तथा रूपांतरित पटकथा लेखन के लिए 'ओएमजी! ओह माय गॉड' फिल्म के पटकथा लेखक भवेश मंडेला एवं श्री उमेश शुक्ला के नाम घोषित किए गए हैं।

अंजली मेनन को फिल्म 'उस्ताद होटल' के लिए सर्वश्रेष्ठ संवाद तथा प्रसून जोशी को 'चटगांव' के 'बोलो ना..' गीत के लिए सर्वश्रेष्ठ गीतकार के पुरस्कार से नवाजा गया।

बांग्ला फिल्म 'चित्रांगदा' के लिए फिल्म निर्देशक एवं अभिनेता रितुपर्णो घोष तथा 'कहानी', 'गैंग्स ऑफ वासेपुरा', 'देख इंडिया सर्कस' और 'तलाश' फिल्मों में काम करने वाले अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी को विशेष जूरी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

तमिल फिल्म 'विश्वरूपम' के लिए सर्वश्रेष्ठ कोरियोग्राफी का राष्ट्रीय पुरस्कार बिरजू महाराज के नाम गया है।

फिल्म 'इश्कजादे' में दिलेर लड़की का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री परिणीति चोपड़ा तथा 'देख इंडिया सर्कस' के लिए तनिष्ठा चटर्जी के अभिनय का विशेष रूप से उल्लेख किया गया है। 
More from: samanya
34709

ज्योतिष लेख