Jyotish RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

अंकों के आइने में टीम इंडिया की संभावनाएं

world cup 2011, numerology for team india

विश्व आर निगम

वर्ल्ड कप का आगाज़ हो चुका है और करोड़ों देशवासियों के जेहन में अब यही सवाल है कि क्या धोनी के धुरंधर इस बार कप अपने नाम कर पाएंगे? यूं तो कागज पर टीम इंडिया को बहुत मजबूत टीम माना जा रहा है और उसके कप जीतने की प्रबल संभावनाएं हैं, लेकिन क्या सितारे भी उनके पक्ष में हैं।

तो आइए अंकों के आइने में टीम इंडिया की जीत की संभावनाओं को टटोलने की कोशिश करते हैं-

महेन्द्र सिंह धोनी –
धोनी टीम के कप्तान हैं और उन्हें सबसे अच्छा प्रदर्शन करना होगा। एकदिवसीय मैचों में हाल के दिनों में धोनी का प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं रहा है। अंकों का गणित लगाएं तो  धोनी की जन्म तिथि 7 जुलाई 1981 है और धोनी के शुभ अंक 2,1 और 7 हैं और धोनी इस समय अपने 30वें वर्ष में है जो उनके लिए औसत ही दिखाई देता है। इस प्रकार धोनी का प्रदर्शन इस विश्वकप में औसत ही रहेगा। उन्हें रन बनाने में खासी मशक्कत करनी पड़ेगी और भारत को जीत दिलाने के लिए बाकी खिलाडियों के सहयोग की अधिक आवश्यकता पड़ेगी।

वीरेंद्र सहवाग-
वीरेन्द्र सहवाग का बल्ला बोला तो विपक्षी टीमों का बिस्तर बंधना तय है। सहवाग की जन्म तिथि 20 मार्च 1978 है और इस प्रकार सहवाग के शुभ अंक 2, 1 और  7 है और सहवाग इस समय अपने 33वें वर्ष में है, जो उनके लिए औसत से कुछ अच्छा है। परन्तु 20 मार्च के बाद सहवाग 34वें वर्ष में प्रवेश कर लेंगे, जो उनके महत्वपूर्ण वर्षों में से एक है। इस प्रकार सहवाग भारत के लिए क्वार्टर फ़ाइनल से फ़ाइनल तक के महत्त्वपूर्ण मैचों में जीत के सूत्रधार हो सकते हैं।

सचिन तेंदुलकर-
सचिन तेंदुलकर की जन्म तिथि 24 अप्रैल 1973 है और सचिन इस समय अपने 38वे वर्ष में हैं। सचिन का वर्ल्ड कप में प्रदर्शन अभी तक शानदार रहा है लेकिन इस बार प्रदर्शन पिछली बार की तुलना में कुछ कम रहेगा। उनका यह आखिरी वर्ल्ड कप हो सकता है। प्रशंसकों को उनसे खासी उम्मीदें हैं। लेकिन, सचिन अपने ही तय किए मानकों पर पूरी तरह खरे नहीं उतर पाएंगे। हालांकि, बाद के मुकाबलों में उनका प्रदर्शन पहले से बेहतर होगा।

युवराज सिंह-
युवराज पिछले कुछ समय से अपने पुराने अंदाज़ में खेलने में असमर्थ रहे है परन्तु 12 दिसम्बर 2010 को युवराज ने अपने 30 वें वर्ष में प्रवेश किया है, जो उनके लिए बहुत अच्छा साबित होगा। इस प्रकार इस विश्व कप में युवराज भारत के लिए जीत की बड़ी उम्मीद बन सकते हैं।

गौतम गंभीर-
गौतम गंभीर की जन्म तिथि 14 अक्टूबर 1981 है और वो इस समय 30वे वर्ष में चल रहे है। गंभीर के लिए भी यह समय बहुत अच्छा नही दिखता। गंभीर के लिए 29वां वर्ष भी ख़ास नही था और इसी लिए वो पिछले कुछ समय से चोटों से परेशान चल रहे हैं।

हरभजन सिंह-
गेंदबाजी के क्षेत्र में भारत को हरभजन से बहुत आशाएं रहेंगी। हरभजन सिंह की जन्म तिथि 3 जुलाई 1980 है और हरभजन इस समय 31वे वर्ष में है। यह वर्ष हरभजन के लिए औसत से कुछ अच्छा ही रहेगा। उन्हें टीम के बाकी साथियों का अच्छा समर्थन मिलेगा।

ज़हीर खान-
जहीर खान भारतीय गेंदबाजी की धुरी हैं। विश्व कप में उनका चलना बहुत जरुरी है। अंकों के लिहाज से देखें तो ज़हीर खान की जन्म तिथि 7 अक्टूबर 1978 है और ज़हीर इस समय 33वे वर्ष में चल रहे है जो उनके लिए अच्छा रहेगा।

सुरेश रैना-
सुरेश रैना की जन्म तिथि 24 नवम्बर 1986 है और जन्म तिथि के अनुसार उनके शुभ अंक 6, 3 और 9 है। पिछले वर्ष रैना अपने 24वे वर्ष में थे और उन्होंने पिछले वर्ष बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था परन्तु 24 नवम्बर के बाद रैना ने अपने 25वें वर्ष में प्रवेश किया है जो कि उनके लिए ख़ास अच्छा नही है। उसके बाद उनके प्रदर्शन में भी गिरावट आई है। इस प्रकार रैना  का भी लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरना मुश्किल है।

युसूफ पठान-
युसूफ पठान से भी इस विश्व कप में टीम को बहुत आशाएं रहेंगी। युसूफ की जन्म  तिथि- 17 नवम्बर 1982 है और जन्म तिथि के अनुसार 8, 3 और 1 अंक उनके लिए अच्छे हैं। युसूफ इस समय 21वें वर्ष में है और अंक ज्योतिष के लिहाज़ से उनके लिए भी यह वर्ष औसत साबित होगा। लेकिन,वर्ल्ड कप का अर्थ पूरा वर्ष नहीं है। फिर, भारतीय पिचों पर यूसूफ का बल्ला बोलता रहा है। तो उम्मीद कीजिए कि उनका सामान्य प्रदर्शन साल वर्ल्ड कप के बाद दिखे।

आशीष नेहरा-
आशीष नेहरा की जन्म तिथि 29 अप्रैल 1979 है और इस प्रकार उनका मूलांक 2 और भाग्यांक 5 है। इस समय नेहरा अपने 32वें वर्ष में चल रहे हैं, जो उनके भाग्यांक पर जुड़ कर आता है। इस प्रकार यह वर्ष उनके लिए निर्णायक साबित होगा। नेहरा इस विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं।
 
इस प्रकार भारत की जीत के लिए इस विश्व कप में सहवाग, युवराज, आशीष नेहरा और ज़हीर मुख्य सूत्रधार हो सकते हैं। इनका प्रदर्शन टीम की जीत में सबसे महत्वपूर्ण रहेगा। परन्तु धोनी, सचिन और गंभीर का उनके महत्वपूर्ण वर्ष में न होना भारत के लिए परेशानी बन सकता है।  भारत के लिए मुख्यतः 2, 3 और 6 के योग पर होने वाले मैच अच्छे रहेंगे।

श्रीलंका के जीत की भविष्यवाणी !

श्रीलंका के एक बड़े ज्योतिषी ने भविष्यववाणी की है कि विश्व कप 2011 का फाइनल मुकाबला श्रीलंका और इंग्लैंड के बीच होगा। यह भविष्यकवाणी श्रीलंकाई टीम की मौजूदा ग्रह दशा देखकर की गयी है। पियासेना रथुविथाना श्रीलंका की कई जानी-मानी हस्तियों को सलाह देते आये हैं। इनमें राष्ट्र पति महेंद्रा राजपक्षे भी शामिल हैं। उनकी भविष्यवाणी है कि इंग्लैंड, ऑस्ट्रेडलिया और भारत भी खिताब की दौड़ में बने हुए हैं। तारों की स्थिति के अनुसार इंग्लैंड और भारत के बीच सेमीफाइनल मुकाबला होगा। रथुविथाना के अनुसार इंग्लैंड इस मैच में भारत को हराकर फाइनल में श्रीलंका के खिलाफ खेलेगा। यह भविष्यावाणी श्रीलंका के क्रिकेट प्रशंसकों के लिए एक खुशखबरी की तरह है।

More from: Jyotish
18625

ज्योतिष लेख