Jyotish RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

धनु राशि में मंगल का ‘खेल’

mass in sagittarius what are the affects

एस.एन. राव

पिछले हफ्ते गोचरस्थ मंगल धनु राशि में प्रवेश कर गया और अब 9 जनवरी, 2011 तक यहाँ रहेगा। इस दौरान अलग अलग राशियों के जातकों पर अलग अलग प्रभाव पड़ेगा। आइए देखें कि विभिन्न राशियों पर इसका क्या असर होगा -

मेष
तार्किक चिन्तन और साफ़गोई से फ़ैसले लेने की क्षमता विकसित होगी। धार्मिक अनुष्ठानों के लिए अरुचि पैदा हो सकती है। आप अपने क्षेत्र में सफलता पूर्वक नेतृत्व करेंगे। आप व्यवसाय में क़ामयाब रहेंगे, हालाँकि कृषि से जुड़े कामों में आपको नुक़सान होने की सम्भावना है। पिता की ख़राब सेहत परेशानी का कारण बन सकती है। आप सामान्य से अधिक बौद्धिक और रचनात्मक काम करने में सक्षम होंगे। जिन लोगों के मन में आपकी अच्छी छवि है, आप उन्हें काफ़ी प्रभावित करेंगे।

वृषभ
आपको दुर्घटनाओं से सावधान रहने की ज़रूरत है। मंगल के प्रभाव के चलते बुख़ार, डर, सड़क हादसे और चोट, धन-हानि और मानसिक संताप आदि का सामना करना पड़ सकता है। विवाहेतर सम्बन्ध की संभावना से भी इंकार नहीं किया जा सकता है, अतः इससे सावधान रहें। दूसरों के साथ अहम्‍ का टकराव भी हो सकता है। आपका दूसरों के जीवन पर व्यापक प्रभाव पड़ेगा। ऋण लेने के लिए अच्छा समय नहीं है।

मिथुन
जीवन-साथी या व्यावसायिक साझीदार के साथ मनमुटाव हो सकता है। उत्साह में कमी आएगी और ऊर्जा की कमी महसूस करेंगे। बिना सोचे-समझे अचानक निर्णय लेने की प्रवृत्ति में इज़ाफ़ा होगा। यह समय साझीदारी में काम-धन्धा शुरू करने के लिहाज़ से काफ़ी ख़राब है इसलिए यदि कोई इस तरह की परियोजना हो तो उसे टाल दें। जीवन में तनाव रहेगा, जिससे बचने के लिए अपने साझीदार, जीवनसाथी और सहयोगियों के साथ आपसी समझ विकसित करें।

कर्क
यह समय आपके लिए क़ामयाबी लेकर आएगा। आप भूमि और प्रॉपर्टी आदि के माध्यम से धन अर्जित करेंगे। शत्रुओं पर आपको विजय मिलेगी। हालाँकि काम की अधिकता के चलते स्वास्थ्य पर इसका दुष्प्रभाव पड़ सकता है। साथ ही कनिष्ठ सहकर्मियों की वजह से भी कुछ परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। कामों को सफलतापूर्वक संपन्न करने के लिए आपको काफ़ी मेहनत करनी पड़ेगी। जिसकी उन्हें आपसे उम्मीद हो, वह काम भली-भांति करें और आक्रामक व्यवहार न दर्शाएँ।

सिंह
अपने अधिकारपूर्ण और रोबीले बर्ताव की वजह से इस गोचर के दौरान आपकी प्रतिष्ठा को ठेस पहुँच सकती है। बच्चे सेहत को लेकर इस दौरान काफ़ी परेशान रहेंगे। इस समयावधि में आप महत्वाकांक्षी और साहसिक निर्णय लेंगे। यह आपके लिए चुनौतीभरा और रोमांचक समय होगा। बच्चों के साथ आपके रिश्ते में तनाव आ सकता है। जीवन में अनुशासन की कमी भी आ सकती है। वाहन चालन में सावधानी की जरुरत है।

कन्या
माँ को स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। घर में कलह की भी सम्भावना है। इस दौरान पारिवारिक जीवन सुखमय नहीं कहा जा सकता है। पिता या घर के किसी बुज़ुर्ग के साथ दुर्घटना या कोई हादसा हो सकता है, अतः सावधानी अपेक्षित है। मंगल का धनु राशि में यह गोचर आपके लिए घर बदलने के लिहाज़ से अच्छा नहीं है। परिवार में सुख-शान्ति के लिए हर काम में सबकी राय लें।

तुला
इस समयावधि में आप कुछ विशेष हासिल करेंगे और नई पहल करने में सफल रहेंगे। इस दौरान आप ख़ुद को हिम्मत से भरपूर पाएंगे और कुछ ऐसे ख़ास फ़ैसले लेंगे, जो आगे चलकर आपके लिए काफ़ी फ़ायदेमन्द हो सकते हैं। हालाँकि यात्राओं के दौरान सतर्कता वांछित है, क्योंकि दुर्घटना मुमकिन है। आपकी ऊर्जा का स्तर ऊँचा होगा। जिन लोगों से आप रोज़ाना बातचीत करते हैं जैसे कि पड़ोसी या रिश्तेदार, उनसे वाद-विवाद हो सकता है।

वृश्चिक
यह गोचर आपके स्वभाव में कुछ बदलाव ला सकता है। कटु शब्दों का प्रयोग करने से बचें और विनम्र रहने की कोशिश करें। इस गोचर के दौरान ख़र्चों में इज़ाफ़े का भी संकेत है, जिसके चलते धन का अपव्यय हो सकता है। अतः भली-भांति सोच-समझकर ख़र्च करें। आपको विरोधी पक्ष या सरकार-प्रशासन की ओर से काफ़ी चुनौतियों का मुक़ाबला करना पड़ सकता है, जिसकी वजह से आप तनाव का अनुभव करेंगे। कार्य पूर्ण करने के आपके प्रयासों को सफलता मिलेगी।

धनु
इस कालावधि में चोट, घाव, जलने अथवा ज्वर के कारण परेशान हो सकते हैं। पहले भाव से गुज़रता हुआ मंगल ‘ताप’ में वृद्धि करेगा। इस दौरान काम-काज में काफ़ी बढ़ोत्तरी होगी। दूसरों पर अपनी सक्रियता और कठिन परिश्रम के माध्यम से अच्छा प्रभाव छोड़ने का सही समय है। हालाँकि संबंधों में कुछ दरार आ सकती है। स्वतन्त्र रूप से काम करना सामान्य से अधिक फलदायी साबित हो सकता है। किसी भी विवाद या क़ानूनी मसले में उलझने से बचें। उच्च-रक्तचाप से बचने के लिए सावधानी बरतें।

मकर
यह गोचर आपके लिए अधिक सकारात्मक नहीं रहेगा। इस दौरान आपको नाकामी का सामना करना पड़ सकता है। सेहत के नज़रिए से भी समय थोड़ा ठीक नहीं है और संक्रामक रोगों से बचाव की आवश्यकता है। ख़र्चों में वृद्धि होने की प्रबल सम्भावना है। साथ ही क़ारोबार में हानि हो सकती है। जीवन-साथी से अनबन होने के संकेत भी हैं। आपको आपके काम के अनुरूप प्रतिष्ठा नहीं मिलेगी, जिसके चलते आप तनाव का शिकार हो सकते हैं। धैर्य बनाए रखें, तो शीघ्र ही आप नकारात्मक समय से उबर जाएंगे।

कुम्भ
यह गोचर आपको कुछ नया सीखने, शिक्षा और यात्रा आदि से जुड़े कई नए मौक़े देगा। हालाँकि इस दौरान भय, तनाव और चिन्ता में वृद्धि हो सकती है। किसी विशेष व्यक्ति से मुलाक़ात आपके जीवन में व्यापक बदलाव लाएगी। यह व्यक्ति आपके मूल्यों, धारणाओं और सोचने के तरीक़े को चुनौती देगा तथा आपके व्यक्तित्व में आए बदलावों का कारण होगा। सेहत को लेकर सचेत रहें। जीवन-साथी या संतान के स्वास्थ्य को लेकर भी सावधानी अपेक्षित है। रुपये-पैसे को लेकर कुछ तनाव हो सकता है।

मीन
इस गोचर में आपको करिअर से जुड़े कई मौक़े मिलेंगे। आपके स्वास्थ्य और सक्रियता में सुधार होगा तथा आप स्वयं को अधिक ऊर्जावान पाएंगे। आर्थिक तौर पर भी आपके लिए काफ़ी सकारात्मक समय है। आपके निर्णय सही सिद्ध होंगे और आपको अपने काम के चलते पहचान हासिल होगी। कृषि-क्षेत्र से लाभ इंगित है। शुरुआती समय में पेशे को लेकर कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, लेकिन बाद में सारी चिन्ताएँ समाप्त हो जाएंगी।

 

More from: Jyotish
16681

ज्योतिष लेख