Samanya RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

भारत बंद : देशभर में व्यापक असर, जनजीवन प्रभावित

india close country wide affects

31 मई 2012
 
नई दिल्ली। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) द्वारा पेट्रोल मूल्यों में भारी वृद्धि के विरोध में आयोजित 12 घंटे के भारत बंद का गुरुवार को देशभर में व्यापक असर दिखा। ज्यादातर राज्यों में रेल व सड़क परिवहन प्रभावित रहा, लोगों को दैनिक जरूरतों की पूर्ति में परेशानियां हुईं, कार्यालयों में उपस्थिति कम रही, ज्यादातर स्कूल-कॉलेज बंद रहे, दुकानें व व्यवसायिक प्रतिष्ठान भी बंद रहे। कुछ छिटपुट घटनाओं के अलावा देशभर में बंद शांतिपूर्ण रहा। बंद के दौरान राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के कुछ इलाकों में यातायात व्यवस्था प्रभावित रही। बंद में कई ऑटोरिक्शा संगठनों के शामिल होने के कारण लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ा। भाजपा के नेताओं ने शहर के 100 चौराहों पर धरना देने की चेतावनी भी दी। लगभग 300 व्यापारिक संगठनों ने बंद के समर्थन में बाजार बंद रखे।

भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, "इतने व्यापक स्तर पर भारत बंद का प्रभाव बताता है कि आम जनता मूल्य वृद्धि को बर्दाश्त नहीं करेगी और वह वर्तमान सरकार की नीतियों से आजिज आ चुकी है।"

मध्य प्रदेश में बंद के चलते बाजार बंद रहे। प्रदर्शनकारियों ने कई स्थानों पर जबरन दुकानें बंद कराईं। राजधानी भोपाल सहित इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर और अन्य स्थानों पर बंद का सुबह से ही व्यापक असर दिखा। छत्तीसगढ़ में भी दुकानें व व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे और बंद से जनजीवन प्रभावित रहा।

पश्चिम बंगाल में गुरुवार को बंद समर्थकों ने एक बस में आग लगा दी और रेल एवं सड़क यातायात बाधित किया। बंद समर्थकों ने शहर के विभिन्न इलाकों में जुलूस भी निकाले। कुछ स्थानों पर व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे। लेकिन राजधानी कोलकाता सहित अन्य जिलों में लोगों की सामान्य दिनचर्या रही। पूर्वी रेलवे के सियालदाह स्टेशन पर प्रदर्शनकारी पटरी पर बैठ गए जिसकी वजह से कुछ समय के लिए रेल यातायात बाधित रहा।

तमिलनाडु में बंद का आंशिक असर दिखा। बंद के दौरान कन्याकुमारी में प्रदर्शनकारियों ने कुछ दुकानों को जबरन बंद कराया एवं पांच बसों में तोड़फोड़ की। भाजपा का गढ़ माने जाने वाले कोयम्बटूर में कुछ व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे। कुड्डालोर में प्रदर्शनकारियों ने दो बसों को क्षतिग्रस्त कर दिया।

झारखण्ड में आम जनजीवन प्रभावित हुआ। राज्य के कुछ इलाकों में व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे एवं सड़कों पर बस एवं ऑटो रिक्शा नहीं चले। बंद समर्थकों ने सड़कों पर टायर जलाए। रांची में सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया। रांची, कोडरमा, धनबाद एवं गिरीडीह में प्रदर्शनकारियों के पटरी पर धरना देने के कारण रेल यातायात बाधित हुआ। कुछ इलाकों में कोयले एवं खनिजों की ढुलाई भी प्रभावित हुई।

उत्तर प्रदेश में राजधानी लखनऊ सहित सारे बड़े शहरों के बाजारों के व्यापारिक प्रतिष्ठानों में सुबह से ताले लटक रहे। बंद को व्यापारिक संगठनों का समर्थन प्राप्त है। गुरुवार सुबह सिर पर लाल टोपी लगाए सैकड़ों सपा कार्यकर्ताओं ने इलाहाबाद रेलवे स्टेशन पर रेलमार्ग जाम किया जिससे काफी समय तक रेल परिचालन प्रभावित हुआ। लखनऊ के अलावा मेरठ, कानपुर, वाराणसी और गोरखपुर सहित अन्य शहरों में भाजपा कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार के पुतले जलाए। जौनपुर में भाजपा कार्यकर्ताओं ने यात्री रेलगाड़ी रोकीं।

त्रिपुरा में रेल एवं बस यातायात प्रभावित रहा। वैसे अगरतला-कोलकाता, अगरतला-गुवाहाटी व अगरतला-नई दिल्ली मार्गो पर हवाई सेवाएं अप्रभावित हैं।

कर्नाटक में राज्य संचालित व निजी बसें सड़कों से गायब रहीं, दुकानें व होटल बंद रहे और स्कूल, कॉलेजों में एक दिन के अवकाश की घोषणा की गई। सार्वजनिक परिवहन व टेक्सियों के उपलब्ध न होने की वजह से कार्यालयों में उपस्थिति केवल 50 प्रतिशत ही रही। रेल व उड़ान सेवाएं अप्रभावित रहीं।

बिहार में बंद समर्थकों ने पटना के अति व्यस्ततम डाक बंगला चौराहे को जाम कर दिया जबकि कुछ समर्थक राजेंद्रनगर टर्मिनल पर पटरियों पर बैठ गए। बंद के दौरान जहानाबाद, खगड़िया, दरभंगा, सहरसा, सीवान, कटिहार में भी भाजपा और जनता दल (यु) के कार्यकर्ताओं ने सड़क व रेल मार्ग अवरुद्ध किया।

मुम्बई सहित महाराष्ट्र के ज्यादातर हिस्सों में यातायात बुरी तरह प्रभावित रहा। सड़कों से बसें गायब रहीं। पुणे व ठाणे में बसों पर पत्थराव की चार घटनाएं सामने आईं। इस बंद को भ्रष्टाचार-विरोधी मुहिम चला रहे सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे और यहां तक कि मुम्बई के 'डब्बावाला' का भी समर्थन प्राप्त है। मुम्बई के कार्यालयों में लोगों के लिए भोजन पहुंचाने वाले डब्बावालों ने गुरुवार को अपनी सेवाएं नहीं दीं।

हिमाचल प्रदेश में गुरुवार सुबह से दुकानें व व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद हैं। वैसे राज्य में बंद के कारण यातायात व्यवस्था में किसी तरह की गड़बड़ी की खबर नहीं है। शिमला में करीब 6,000 दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद रखीं।

पंजाब में सत्तारुढ़ शिरोमणि अकाली दल (एसएडी)-भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कार्यकर्ताओं ने भारत बंद के दौरान राजमार्गो पर आवागमन बाधित किया। कड़ी धूप एवं लू के मध्य बंद समर्थकों ने अमृतसर के निकट अमृतसर-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग व होशियारपुर जिले में पंजाब-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात अवरुद्ध किया। इसके अलावा भटिंडा एवं जालंधर में भी राजमार्ग अवरुद्ध करने की खबरें हैं। बंद के दौरान व्यापारिक प्रतिष्ठान भी बंद रहे।

हरियाणा में बंद का मिला-जुला असर दिखाई दिया। चण्डीगढ़ में भाजपा कार्यकर्ताओं ने रेलपटरी पर धरना दिया।


 

More from: samanya
30978

ज्योतिष लेख