Samanya RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

कोल्ड स्टोरेज में रखा गया गद्दाफी का शव

gaddafi dead body kept in cold storage

22 अक्टूबर 2011

काहिरा/त्रिपोली/वाशिंगटन। लीबिया की राष्ट्रीय अंतरिम परिषद (एनटीसी) के लड़ाकों के साथ गुरुवार को लड़ाई के दौरान मारा गया देश का अपदस्थ शासक मुअम्मार गद्दाफी और उसके पुत्र मुतस्सिम के शव को मिसराता के एक कोल्ड स्टोरेज में रखा गया है जबकि गद्दाफी के दूसरे पुत्र सैफ अल-इस्लाम को जेल्तान शहर में पकड़ लिया गया है।

इस बीच, संयुक्त राष्ट्र में मानवाधिकार मामलों के उच्चायुक्त ने गद्दाफी की मौत की परिस्थितियों की जांच की मांग की है। वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि गद्दाफी का मारा जाना लीबिया के इतिहास में एक 'ऐतिहासिक दिन' के रूप में याद किया जाएगा। जबकि दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब जुमा ने कहा कि गद्दाफी को मारा नहीं जाना चाहिए था।

वेबसाइट 'बीबीसी डॉट को डॉट यूके' के मुताबिक मुतस्सिम के शरीर पर गोलियों के निशान हैं।

ज्ञात हो कि तख्तापलट के जरिए लीबिया की सत्ता पर कब्जा करने वाले गद्दाफी ने 40 वर्षो से अधिक समय तक एकछत्र राज किया और गुरुवार को एनटीसी के लड़ाकों के साथ लड़ाई के दौरान वह अपने गृहनगर सिरते में मारा गया।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक लीबिया की एनटीसी के एक फील्ड कमांडर ने 'अल-अरेबिया' चैनल को फोन पर बताया कि सैफ अल-इस्लाम को देश के दक्षिणी शहर में पकड़ा गया है। इस समय उसका उपचार चल रहा है।

कमांडर अली अल-शावेश ने बताया कि सैफ की हिरासत का वीडियो और तस्वीरें कुछ घंटों में सार्वजनिक की जाएंगी। एनटीसी के अधिकारी हालांकि इस रिपोर्ट की पुष्टि तुरंत नहीं कर सके।

संयुक्त राष्ट्र में मानवाधिकार मामलों के उच्चायुक्त नवी पिल्लै ने कहा है कि गद्दाफी किन परिस्थितियों में मारा गया इसकी पूरी तहकीकात होनी चाहिए। पिल्लै के प्रवक्ता रुपर्ट कॉलविल ने जिनेवा में कहा, "गद्दाफी की मौत की परिस्थितियां साफ नहीं हैं। उनके मारे जाने को लेकर की तरह की बातें सामने आई हैं लेकिन वीडियो दृश्यों में जो कुछ दिखा वह काफी विचलित करने वाला है।"

एनटीसी का कहना है कि गद्दाफी को जानबूझकर नहीं मारा गया। उसका कहना है कि समर्थकों और लड़ाकों के बीच हुई लड़ाई के दौरान गद्दाफी के सिर में गोली लगी जिसकी वहज से उसकी मौत हुई।

इस बीच, लीबिया के अधिकारी गद्दाफी को किसी अज्ञात स्थान पर गोपनीय तरीके से दफनाने की तैयारी कर रहे हैं।

वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा ने कहा कि मुअम्मार गद़्दाफी का मारा जाना लीबिया के इतिहास में एक 'ऐतिहासिक दिन' के रूप में याद किया जाएगा।

व्हाइट हाउस के रोज गार्डन से टेलीविजन पर दिए गए एक बयान में ओबामा ने कहा, "आज मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं कि गद्दाफी शासन समाप्त हो गया है।" ओबामा ने कहा कि लीबिया में अत्याचार रूपी घना अंधेरा समाप्त हो गया है।

ओबामा ने कहा कि लीबिया में जारी नाटो अभिायन और लीबिया में नो-फ्लाई जोन का प्रतिबंध जल्द ही समाप्त किया जाएगा।

ओबामा ने कहा, "बिना किसी एक अमेरिकी सैनिक को खोए हमने यह लक्ष्य हासिल किया है और लीबिया में नाटो का अभियान जल्द ही समाप्त होगा।" उन्होंने कहा कि लीबिया के नागरिकों को स्वतंत्र करने की प्रतिबद्धता पूरी हो चुकी है और वे अब नए अवसर तलाश सकते हैं।

दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब जुमा ने कहा कि गद्दाफी को मारना नहीं चाहिए था बल्कि उन्हें पकड़कर अपराधों के लिए उन पर मुकदमा चलाया जाना चाहिए था।

इस बीच, संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने लीबिया के सभी पक्षों से हिंसा का रास्ता छोड़कर इस उत्तरी अमेरिकी देश में शांति स्थापित करने के लिए मिलकर काम करने का आन किया।

अमेरिका के सामरिक थिंक टैंक स्ट्रेटफॉर के मुताबिक गद्दाफी की मौत विद्रोहियों के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है लेकिन इससे ज्यादा जरूरी लीबिया में शांति और स्थिरता कायम करना है।

स्ट्रेटफॉर की ओर से कहा गया, "लीबिया का नया भविष्य अभी स्पष्ट नहीं है। लेकिन प्रथम दृष्टया गद्दाफी समर्थकों को समाप्त कर दिया गया है और राष्ट्रीय संक्रमणकालीन परिषद अब सरकार बनाने की दिशा में आगे बढ़ सकती है।"

More from: samanya
26035

ज्योतिष लेख