Samanya RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

आईएमएफ प्रमुख कान पर बढ़ा इस्तीफे का दबाव

Dominique Strauss is growing pressure to resign

18 मई 2011

वाशिंगटन। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के प्रमुख डोमिनिक स्ट्रॉस कान पर इस्तीफे का दबाव बढ़ता जा रहा है। अमेरिकी वित्त मंत्री टिमोथी गेइथनर ने कहा है कि कान अब इस पद का दारोमदार सम्भालने की स्थिति में नहीं रह गए हैं।

आईएमएफ में नम्बर दो का ओहदा रखने वाले जॉन लिपस्की ने कार्यवाहक प्रमुख का कार्यभार तो सम्भाल लिया है, लेकिन गेइथनर ने एक अंतरिम प्रमुख की नियुक्ति के लिए आईएमएफ के कार्यकारी मंडल से आग्रह किया है, क्योंकि लिपस्की इसी वर्ष आगे चल कर आईएमएफ छोड़ने वाले हैं।

उन्होंने कहा कि आईएमएफ के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात स्ट्रास कान के स्थान पर एक नए प्रमुख की तलाश करना है, क्योंकि कान को न्यूयार्क में एक होटल परिचारिका द्वारा यौन उत्पीड़न का आरोप लगाए जाने के बाद गिरफ्तार कर लिया गया है।

गेइथनर ने मंगलवार को न्यूयार्क में हारवर्ड क्लब को सम्बोधित करते हुए कहा, "वह (स्ट्रॉस कान) जाहिर तौर पर आईएमएफ का दारोमदार सम्भालने की स्थिति में नहीं रह गए हैं और यह जरूरी है कि आईएमएफ का बोर्ड अंतरिम अवधि के लिए किसी को प्रबंध निदेशक के रूप में नियुक्त कर दे।"

गेइथनर ने हालांकि स्ट्रॉस कान के मामले पर टिप्पणी करने या उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों का ब्योरा देने से इंकार कर दिया।

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जे. कार्नी ने भी इस मामले पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया, लेकिन उन्होंने कहा, "हमारा आईएमएफ में और जिम्मेदारियों को निभाने की उसकी अटूट क्षमता में, इस कठिन दौर की वैश्विक अर्थव्यवस्था में उसकी भूमिका में पूरा भरोसा है।"

कार्नी ने आईएमएफ के भावी प्रमुख के चयन प्रक्रिया के बारे में बात नहीं की, लेकिन उन्होंने कहा, "मैं समझता हूं कि महत्वपूर्ण बात यह है कि हम मानते हैं कि आईएमएफ अपना कामकाज जारी रख सकता है और जारी रखेगा तथा वैश्विक अर्थव्यवस्था में अपनी भूमिका अदा करेगा।"

सीनेट की विदेशी मामलों की समिति के अध्यक्ष जॉन केरी ने भी स्ट्रॉस कान के इस्तीफे की बात तो नहीं की, लेकिन उन्होंने कहा कि यह परिस्थिति "यदि घातक नहीं तो परेशान करने वाली" तो है ही।

यह पहला मौका है, जब शीर्ष अमेरिकी अधिकारियों ने स्ट्रॉस कान के मामले के असर को लेकर सार्वजनिक रूप से बातें की है। आईएमएफ के चयन में अमेरिका का बड़ा हस्तक्षेप होता है, क्योंकि इस संगठन में उसके सर्वाधिक वोट हैं।

इस बीच आईएमएफ के एक प्रवक्ता ने कहा कि इस मामले में आईएमएफ के प्रबंध निदेशक कूटनीतिक कवच के दायरे में नहीं आते। प्रवक्ता ने कहा, "न्यूयार्क में उनकी गिरफ्तारी के बाद से हमारा उनसे कोई सम्पर्क नहीं है।"

More from: samanya
20798

ज्योतिष लेख