Samanya RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

दिल्ली ब्लास्ट: क्या है ये मेल का खेल

delhi blast,4th mail from indian mujahideen

10 सितंबर 2011

दिल्ली। दिल्ली बम धमाकों में आतंकवादियों की तरफ से आ रहे ईमेल लगातार नये नये पेंच खड़े कर रहा है। ताज़ा घटनाक्रम में दिल्ली ब्लास्ट से जुड़ा चौथा ई-मेल मीडिया संस्थानों को भेजा गया है। ये मेल भी दूसरे मेल की तरह ये मेल भी छोटूमिनाना नाम के आईडी के साथ भेजा गया है। इस मेल में फिर से दावा किया गया है कि दिल्ली हाई कोर्ट में हुए ब्लास्ट की जिम्मेदारी इंडियन मुजाहिद्दीन लेती है। इतना ही नहीं मेल में सुरक्षा एजेंसियों को चुनौती दी गई है कि वे इस मेल का पता लगा कर दिखायें।

ईमेल एकाउंट - chotoominani5@gmail.com की तरफ से चौथा मेल शुक्रवार शाम 6 बजकर 39 मिनट पर मीडिया संगठनों को मिला। इसमें दावा किया गया है कि इंडियन मुजाहिदन ने ही काफी सोच-विचार करने के बाद उच्चा न्यायालय में विस्फोट किया। इसमें राष्ट्रीय जांच एजेंसी ओर दिल्ली पुलिस को ई-मेल का पता लगाने की भी चुनौती दी गई है।

इससे पूर्व आये मेल में दिल्ली विस्फोट की जिम्मेदारी लेते हुए इंडियन मुजाहिद्दीन ने धमकी दी है कि 13 सितंबर को दिल्ली एक बार फिर उनके निशाने पर होगी। इतना ही नहीं आतंकी संगठन ने भारतीय खूफिया एजेंसियों को खुली चुनौती देते हुए कहा है कि इस धमाके को भी अगर रोक सकते हो तो रोक लो। सूत्रों के मुताबिक मीडिया संस्थानों के पास जो 13 सितंबर को ब्लास्ट कराने की धमकी किसी याहू एकाउंट से भेजा गया है।

आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिद्दीन की ओर से भेजे जा रहे ईमेल ने सुरक्षा एजेंसियों की नींद उड़ा कर रख दी है। 7 सितंबर को दिल्ली हाई कोर्ट के बाहर हुए धमाके की जिम्मेदारी पहले पाकिस्तान में प्रतिबंधित संगठन हूजी ने ली थी। लेकिन मीडिया के पास आए इंडियन मुजाहिद्दीन के मेल में लिखा है कि धमाका हूजी ने नहीं बल्कि उसने कराया है। 
 
इस बीच एनआईए की टीम किश्तवाड़ में 6 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। टीम ने ग्लोबल साइबर कैफे में आने वाले ग्राहकों से पूछताछ के आधार पर इन्हें हिरासत में लिया है। शोएब अहमद शेख नाम के शख्स ने इसी साइबर कैफे से ब्लास्ट के बाद  कथित तौर पर पहला ईमेल किया था। सूत्रों के मुताबिक दिल्ली हाई कोर्ट के बाहर बुधवार की सुबह हुए ब्लास्ट के कुछ घंटों बाद घटना की जिम्मेदारी लेते हुए दिल्ली के कुछ मीडिया संगठनों के पास ईमेल भेजने वाले संदिग्ध शोएब अहमद शेख ने जांच कर्ताओं को बताया है कि उसे सीमापार से ईमेल भेजने का आदेश मिला था। शेख ने किश्तवाड़ के साइबर कैफे से यह ईमेल भेजा था। 
 
देश भर में हो रही छापेमारी और धरपकड़ के तहत मुंबई में भी दो संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया गया है और इनसे पूछताछ की जा रही है। राजस्‍थान में पुलिस ने शुक्रवार मध्यरात्रि किशनगढ़बास कस्बे (अलवर) में धर्मशाला की तलाश में घूम रहे जिन दो कश्मीरी युवकों को गिरफ्तार किया था, उनके बारे में पुलिस का कहना है कि पहली नज़र में इनका आतंकवाद से कोई रिश्ता नहीं लग रहा है।

फिलहाल मीडिया तक पहुंच रहे इन मेल के दावे में कितनी सच्चाई इस बारे में खूफिया एजेंसी जांच कर रही है। सवाल ये भी खड़ा होता है कि इडियन मुजाहिद्दीन बार बार मेल भेज कर विस्फोट की जिम्मेदारी क्यों ले रहा है। एक आशंका ये भी जताई जा रही है कि लगातार आ रहे मेल कहीं जांच की दिशा को भटकाने की कोशिश तो नही है। या फिर ये किसी शरारती तत्व की ओर से तो नहीं भेजा जा रहा है। या फिर आतंकवादियों की ये भारत को डराने की कोशिश तो नहीं।  आखिर विस्फोट के बाद लगातार मेल आते रहने का मतलब क्या है। इससे पूर्व इस तरह के मेल का खेल कभी नहीं हुआ है।  गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस को जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं।

More from: samanya
24780

ज्योतिष लेख