Get free astrology & horoscope 2013
Samanya RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

मृत्युदंड दुष्कर्म की समस्या का समाधान नहीं : नंदिता

death penalty does not solve the problem of rape nandita says


9 जनवरी 2013

मुम्बई।  सामाजिक कार्यकर्ता व अभिनेत्री नंदिता दास का मानना है कि मृत्युदंड से दुष्कर्म जैसे अपराध नहीं रुक सकते। नंदिता सोमवार को यहां जानकी देवी पुरस्कार समारोह में बोल रही थीं। उन्होंने कहा, "मुझ्झे नहीं लगता कि मृत्युदंड से दुष्कर्म जैसे अपराधों को रोका जा सकता है क्योंकि हमारे देश में ऐसे अपराध बहुत कम साबित हो पाते हैं। तमाम हंगामे के बावजूद दुष्कर्म की घटनाओं की खबरें लगातार आ रही हैं।"


उनका कहना है कि इस तरह के अपराधों को रोकने के लिए कुछ और उपाय किए जाने चाहिए। उन्होंने कहा, "ऐसे देश जहां दुष्कर्म के लिए मृत्युदंड का प्रावधान है वहां भी ये अपराध कम नहीं हुए हैं। उन देशों में इस तरह के अपराध कम हैं जहां मृत्युदंड का प्रावधान है ही नहीं। ऐसे अपराधियों को बजाए मौत की सजा देने के, फटाफट सुनवाई कर समाज में जलील किया जाना चाहिए।"


नंदिता ने उन बयानों पर हैरानी जाहिर की जिनमें दुष्कर्म की शिकार लड़की को भी इसके लिए जिम्मेदार ठहराया गया है।


उन्होंने कहा, "कुछ लोगों के इस तरह के बयान बिल्कुल बेहूदा हैं कि दुष्कर्म की घटनाएं इसिलए होती हैं क्योंकि लड़कियां स्कर्ट जैसे कपड़े पहनती हैं। अगर ऐसा होता तो गांवों में किसी महिला के साथ दुष्कर्म नहीं होता।"


इस संदर्भ में एक उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा, "मैंने भंवरी देवी पर एक फिल्म 'बवंडर' बनाई थी, वह अपना चेहरा ढक कर रखती थी फिर उसके साथ ऐसी घटना कैसे हो गई?"


नंदिता ने कहा, "हम तीन साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म की खबरें सुनते हैं, क्या वह किसी नाइट क्लब में थीं? हमें इस तरह के शर्मनाक तर्क नहीं देने चाहिए।"


 

More from: samanya
34301

मनोरंजन
जानें ऑडिशन में सफल होने के गुर

एक्टिंग में करियर बनाने वाले लोगों के लिए मनोज रमोला ने लिखी है एक किताब जिसका नाम है ऑडिशन रूम। इस किताब में लिखे हैं ऑडिशन में सफल होने के सभी गुर।

ज्योतिष लेख
इंटरव्यू
मेरा अलग 'लुक' भी मेरी पहचान है : इमरान हसनी

हिन्दी सिनेमा में चरित्र अभिनेताओं के संघर्ष की राह आसान नहीं होती। इन्हीं रास्तों में से गुज़र रहे हैं इमरान हसनी। 'पान सिंह तोमर' में इरफान खान के बड़े भाई की भूमिका निभाकर चर्चा में आए इमरान हसनी अब इंडस्ट्री में नयी पहचान गढ़ रहे हैं। यूं कशिश व रिश्तों की डोर जैसे सीरियल और ए माइटी हार्ट जैसी अंतरराष्ट्रीय फिल्में उनके झोले में पहले ही थीं। एक ज़माने में सॉफ्टवेयर इंजीनियर रहे इमरान से अभिनय के शौक व उनकी चुनौतियों के बारे में बात की गौरी पालीवाल ने।

बॉलीवुड एस्ट्रो
बोलता कैलेंडर: तारीख़, समय, मुहूर्त को बोलकर बताता है यह ऐप

बोलता कैलेंडरबोलेगा आज की तारीख़, समय, दिन, राहुकाल, अभिजीत मुहूर्त, तिथि, नक्षत्र, योगा, करण, पंचक, भद्रा, होरा और चौघड़िया साल 2019 के लिए।