Samanya RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

शाहरुख के साथ दुर्व्‍यवहार से सकते में बॉलीवुड

न्यूयार्क/ नई दिल्ली, 15 अगस्त

बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान को अपने 'खान' उपनाम के कारण अमेरिका के नेवार्क हवाई अड्डे पर शनिवार को दो घंटे तक हिरासत में रहना पड़ा। भारतीय राजनयिकों के हस्तक्षेप के बाद उन्हें मुक्त किया गया। ज्ञात हो कि उनकी हालिया फिल्म 'माइ नेम इज खान' अमेरिका में फिल्माई गई है।

शाहरुख ने कहा कि हवाई अड्डे पर उनकी तलाशी एशियाई होने कारण ली गई। भारत सरकार और मनोरंजन जगत की ओर से इस घटना पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की गई है।
 
घटना के संबंध में शाहरुख ने समाचार चैनल सीएनएन-आईबीएन को फोन पर बताया, "एशियाई नागरिक होने के कारण मेरी तलाशी ली गई। वे जानना चाहते थे कि मैं अमेरिका क्यों आया हूं और कहां ठहरा हुआ हूं।"
 
घटना से बेहद क्षुब्ध शाहरुख ने कहा कि उनके साथ पहले भी ऐसा हो चुका है। उन्होंने कहा, "कुछ देशों के लिए मेरा नाम एक मुद्दा है, लेकिन मुझे अपने नाम पर गर्व है।"

सूचना और प्रसारण मंत्री अंबिका सोनी ने भी इस मुद्दे पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने शनिवार को नई दिल्ली में संवाददाताओं से कहा कि शाहरुख को अमेरिकी हवाई अड्डे पर दो घंटे तक हिरासत में रखा जाना उचित नहीं है।

सोनी ने कहा, "मेरा मानना है कि धर्म के नाम पर किसी को हिरासत में लेना उचित नहीं है, लेकिन अमेरिका में ऐसी घटनाओं के कई उदाहरण हैं।" उन्होंने कहा कि अमेरिका में जिस तरह से हमारी तलाशी ली जाती है, हमें भी उसी तरह उनकी तलाशी लेनी चाहिए।

शाहरुख स्वतंत्रता दिवस के मौके पर शिकागो में आयोजित एक कार्यक्रम में शिरकत करने जा रहे थे, तभी नेवार्क हवाई अड्डे पर यह घटना घटी।
 
नई दिल्ली में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विष्णु प्रकाश ने कहा कि भारत ने यह मुद्दा अमेरिकी दूतावास के सामने उठाया है और न्यूयार्क में भारतीय महावाणिज्य दूत शाहरुख के संपर्क में हैं।
 
भारत में अमेरिका के राजदूत टिमोथी जे. रोमर ने कहा कि वह घटना के संबंध में तथ्यों का पता लगाने का प्रयास कर रहे हैं।
 
उन्होंने कहा कि शाहरुख एक 'ग्लोबल आइकन' हैं और वह अमेरिका के बहुत खास मेहमान हैं। शाहरुख की प्रबंधक निलोफर कुरैशी ने आईएएसएस को मुंबई से फोन पर बताया, "उनके नाम के साथ खान शब्द जुड़े होने के कारण उन्हें हिरासत में लिया गया। उन्हें भारतीय दूतावास के अधिकारियों के हस्तक्षेप करने तक हिरासत में रखा गया। अब वह रिहा हो चुके हैं।"
 
कैटरीना कैफ, करीना कपूर और सैफ अली खान जैसी बॉलीवुड की अन्य हस्तियां भी इस कार्यक्रम में शिरकत करने वाली हैं।
 
शाहरुख खान के साथ घटी इस घटना को लेकर भारतीय मनोरंजन जगत में खासा आक्रोश व्याप्त हो गया।

शाहरुख के दोस्त करन जौहर ने कहा कि इस घटना से वह स्तब्ध और पेरशान हैं। प्रियंका चोपड़ा ने इसे शर्मनाक बताया। उन्होंने कहा कि इससे घृणा और नस्लवाद को बढ़ावा मिलेगा।

कबीर खान ने कहा कि इस समाचार को सुन कर उन्हें आश्चर्य हुआ। यह जैसे नियम हो गया है कि यदि आप मुसलमान हैं तो आपको सवालों का सामना करना पड़ता है।

उन्होंने कहा कि उनके साथ ऐसा तीन बार हो चुका है। आव्रजन अधिकारियों ने उन्हें तीन से पांच घंटे तक रोके रखा है। वे इस बात की परवाह नहीं करते कि आप कोई सेलिब्रिटी हैं या और कुछ।
 
कबीर के अनुसार शाहरुख खान के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए 20 सेकेंड से अधिक नहीं लगना चाहिए। कोई भी इंटरनेट सर्च इंजन हॉलीवुड स्टार ब्रैड पिट और टाम क्रूज की तरह उनके बारे में ढेरों जानकारी दे देगा। इसके बावजूद उन्हें दो घंटे से अधिक समय तक रोकना उत्पीड़न की कार्रवाई है।

(IANS)

More from: samanya
860

ज्योतिष लेख