Samanya RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

राजोआना मुद्दे पर झड़प में 1 की मौत, गुरदासपुर में कर्फ्यू

rajoana, clash on rajoana issue one dead curfew in gurdaspur

30 मार्च 2012

गुरदारपुर | पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह की हत्या के दोषी बलवंत सिंह राजोआना को फांसी दिए जाने के मुद्दे पर गुरदासपुर शहर में गुरुवार को दो गुटों बीच हुई झड़प को शांत करने के लिए पुलिस द्वारा की गई गोलीबारी में एक युवक की मौत हो गई और एक अन्य घायल हो गया। तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया है। बेअंत सिंह की हत्या 1995 में हुई थी।

पंजाब की राजधानी चण्डीगढ़ से 200 किलोमीटर दूर इस शहर में पुलिस की गोलीबारी में जसपाल सिंह नामक 18 वर्षीय एक युवक की मौत हो गई। एक अन्य व्यक्ति के सीने में गोली लगी, उसे अमृतसर के एक अस्पताल में ले जाया गया है।

पुलिस के मुताबिक राजोआना को फांसी दिए जाने के मुद्दे पर झड़प शिव सेना और स्थानीय सिख संगठन के बीच पुलिस की मौजूदगी में हुई। केंद्र सरकार हालांकि राजोआना को फांसी दिए जाने पर रोक लगा चुकी है।

पुलिस के सूत्रों ने बताया कि शिव सेना के सदस्य राजोआना का पुतला जलाना चाहते थे, जिस पर दूसरे गुट ने आपत्ति जताई। इसके बाद दोनों गुटों में संघर्ष छिड़ गया। पुलिस ने पहले लाठीचार्ज और हवा में गोलियां चलाकर माहौल को शांत करने का प्रयास किया। इसके बावजूद भीड़ को बेकाबू होते देख पुलिस ने गोलीबारी शुरू कर दी, जिसमें एक युवक की मौत हो गई और कई लोग घायल हो गए।

घटना के बाद जिले के वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दी गई। इलाके में तनाव व्याप्त है।

पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस घटना की निंदा की और युवक की मौत पर शोक जताया। उन्होंने कहा, "यह सरकार निष्क्रियता और अतिप्रतिक्रया के बीच फंसी हुई है।"

ऑल इंडिया सिख स्टूडेंस्ट्स फेडरेशन ने हिंसक झड़प और युवक की मौत की न्यायिक जांच की मांग की है। फेडरेशन के अध्यक्ष करनैल सिंह पीर मोहम्मद ने कहा कि उधर सरकार राजोआना को बचाने में लगी है इधर राज्य में युवक मारे जा रहे हैं।

उन्होंने पंजाब में शिव सेना पर प्रतिबंध लगाने की मांग की।

More from: samanya
30154

ज्योतिष लेख