Get free astrology & horoscope 2013
Samanya RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

एक्शन फिल्मों से बॉडी पर बुरा इफेक्ट पड़ता है : सलमान खान

bad side effects from action movie salmaan khan


21 अगस्त 2012

मुम्बई। बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान का मानना है कि एक्शन फिल्मों में अभिनय करने से शरीर पर दुष्प्रभाव पड़ता है। फेशियल नर्व डिस्ऑर्डर की समस्या से जूझ रहे सलमान ने अपनी हालिया प्रदर्शित एक्शन फिल्म 'एक था टाइगर' के संदर्भ में कहा कि 'टाइगर' यह कहकर छुटकारा नहीं पा सकता कि 'मैं ठीक नहीं हूं'।


अमेरिका में ट्राइजेमाइनल न्यूराल्जिया की सर्जरी कराने के बाद लौटे सलमान ने कहा, "मैं 'टाइगर' हूं और इसलिए मैं 'मैं स्वस्थ नहीं हूं' जैसे बहाने नहीं बना सकता।"


सलमान ने बात आगे बढ़ाते हुए कहा, "मैंने इस दौरान दौड़ने, मारधाड़, एक स्थान से दूसरे स्थान पर गिरने एवं कूदने जैसे सारे काम किए। यदि आप शारीरिक रूप से स्वस्थ हैं तो आप शायद इन सभी कामों को कर लें। यदि आप इन सब कामों को पूरे दिन करते हैं तो इसकी कीमत आपके शरीर को चुकानी पड़ती है।"


'एक था टाइगर' में सलमान खान की कड़ी मेहनत का परिणाम यह रहा कि इस फिल्म ने प्रदर्शन के पहले दिन 33 करोड़ रुपये का व्यवसाय कर 'अग्निपथ' के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। सलमान ने लगातार 'वांटेड', 'दबंग', 'रेडी' एवं 'बॉडीगार्ड' जैसी एक से बढ़कर एक हिट एक्शन फिल्में दी। इन सभी फिल्मों ने 100 करोड़ रुपये से अधिक का व्यवसाय किया। लेकिन सलमान अब रोमांटिक फिल्म करना चाहते हैं।


उन्होंने कहा, "मैं जल्द ही रोमांटिक फिल्म में नजर आऊंगा। एक्शन फिल्में बेहद कठिन होती हैं। किसी को इसके लिए सुबह जल्दी उठना पड़ता है और देर रात तक बदतर परिस्थितियों में काम करना पड़ता है। मारधाड़ के दृश्य कभी छत पर तो कभी गंदे स्थानों फिल्माना पड़ता है। यह कठिन है।"


'एक था टाइगर' के भी 100 करोड़ रुपये के क्लब में शामिल होने पर सलमान का मानना है कि थिएटरों की बढ़ती संख्या एवं टिकट के दामों में वृद्धि के कारण ऐसा हो रहा है।


हमेशा विवादों में घिरे रहने वाले सलमान खान ने 1988 में 'बीवी हो तो ऐसी' फिल्म के जरिए बॉलीवुड में कदम रखा। राजश्री प्रोडक्शंस की 'मैंने प्यार किया' ने उन्हें बॉलीवुड में स्थापित कर दिया। इसके बाद सलमान ने 1990 के दशक में 'लव', 'साजन', 'सनम बेवफा', 'हम आपके हैं कौन', 'हम दिल दे चुके सनम' और 'अंदाज अपना अपना' जैसी सुपर हिट फिल्में दीं।


 

More from: samanya
32397

मनोरंजन
जानें ऑडिशन में सफल होने के गुर

एक्टिंग में करियर बनाने वाले लोगों के लिए मनोज रमोला ने लिखी है एक किताब जिसका नाम है ऑडिशन रूम। इस किताब में लिखे हैं ऑडिशन में सफल होने के सभी गुर।

ज्योतिष लेख
इंटरव्यू
मेरा अलग 'लुक' भी मेरी पहचान है : इमरान हसनी

हिन्दी सिनेमा में चरित्र अभिनेताओं के संघर्ष की राह आसान नहीं होती। इन्हीं रास्तों में से गुज़र रहे हैं इमरान हसनी। 'पान सिंह तोमर' में इरफान खान के बड़े भाई की भूमिका निभाकर चर्चा में आए इमरान हसनी अब इंडस्ट्री में नयी पहचान गढ़ रहे हैं। यूं कशिश व रिश्तों की डोर जैसे सीरियल और ए माइटी हार्ट जैसी अंतरराष्ट्रीय फिल्में उनके झोले में पहले ही थीं। एक ज़माने में सॉफ्टवेयर इंजीनियर रहे इमरान से अभिनय के शौक व उनकी चुनौतियों के बारे में बात की गौरी पालीवाल ने।

बॉलीवुड एस्ट्रो
बोलता कैलेंडर: तारीख़, समय, मुहूर्त को बोलकर बताता है यह ऐप

बोलता कैलेंडरबोलेगा आज की तारीख़, समय, दिन, राहुकाल, अभिजीत मुहूर्त, तिथि, नक्षत्र, योगा, करण, पंचक, भद्रा, होरा और चौघड़िया साल 2019 के लिए।