Entertainment RSS Feed
Subscribe Magazine on email:    

फिल्म समीक्षा : डेविड

flim review of david

 


बिजॉय नाम्बियार की फिल्म डेविड इस हफ्ते रिलीज हो गयी है। बिजॉय ने दो साल पहले शैतान का निर्देशन किया था जो कि आज के युवा पीढ़ी को ध्यान में रखकर बनाई गयी थी। करीब दो साल बाद बिजॉय डेविड लेकर आ रहे हैं। जो युवा पीढी पर ही केन्द्रित है। लेकिन डेविड का स्टाइल थोडी अलग है। फिल्म की कहानी तीन अलग लोगों की जिन्दगीं के आस-पास घूमती हैं। दिलचस्प बात यह है कि तीनों लोगों के नाम अलग - अलग हैं। लेकिन किसी ना किसी तरह वो एक रोचक तरह से एक-दूसरे से टकराते हैं।


फिल्म की कहानी की बात की जाये तो नील नितिन मुकेश जो कि पहले डेविड के रोल में हैं। और एक गैंगस्टर हैं। जिसे उसकी जिन्दगी से जुडा एक ऐसा राज पता चलता है जिससे वह काफी उलझन में पड जाता है। वह राज होता है कि उसके पिता का खून उसी व्यक्ति ने किया जिसने उसको पाल पोस कर बडा किया।

 

और दूसरा डेविड गोवा का है दूसरे डेविड के किरदार को विक्रम ने निभाया है। जो कि एक पियक्कड किस्म का व्यक्ति है। उसकी जिन्दगीं में उसकी पंसद की लडकी है लेकिन वह उससे शादी नहीं कर पाता है। यही उसकी सबसे बडी मुश्किल है।

 

तीसरा डेविड मु्म्बई का रहना वाला है। जो कि एक गिटारिस्ट है, उसकी जिन्दगी का मकसद यह है कि वह अपनी पिता की बेइजत्ती का बदला लेना चाहता है फिल्म की कहानी तब दिलचस्प हो जाता है। जब यह तीनों एक-दूसरे से किसी ना किसी तरह से जुडते हैं।


क्या इन तीनों का मकसद पूरा हो पाता है या नहीं यह तो फिल्म देखने के बाद ही पता चलेगा फिलहाल यह फिल्म देखने लायक है।

 

More from: Entertainment
34469

ज्योतिष लेख